airforce sateesh accident

रो पड़ा साथ में पूरा गाँव जब आज करवा चौथ के दिन तिरंगे में लिपटा पहुंचा पति शव, 4 साल पहले हुई थी शादी

राष्ट्रीय खबरें

अरुणाचल के पटोगर में शुक्रवार सुबह एयरफोर्स का हेलिकॉप्टर क्रैश होने से हुए हादसे में जिंदा जलने वाले सात जवानों में झुंझुनूं जिले के कासनी गांव के सतीश भी शामिल थे। आज सुबह 10 बजे उनका शव पिलानी तक हेलीकॉप्टर से लाया गया जहां से सेना की गाड़ी गांव लेकर पहुंची।

जहां गांव में सैन्य सम्मान से अंतिम संस्कार किए जाने की तैयारी चल रही है। एयरफोर्स का एमआई-17वी5 हेलीकॉप्टर शुक्रवार सुबह छह बजे अरुणाचल के पटोगर में क्रैश हो गया। बताया जा रहा है कि इस हेलीकॉप्टर से सेना की अग्रिम चौकी पर केरोसिन के केन गिराने थे।

इस दौरान एक कैन खुल गया और हेलीकॉप्टर के टेल रोटर (पीछे वाले पंख) में उलझ गया। उसी दौरान आग लगने से हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया, जिससे सातों जवान शहीद हो गए। एयरफोर्स की कोलकाता यूनिट से पिलोद सरपंच चिरंजी लाल शर्मा के पास इसकी सूचना आई।

airforce sateesh accident

करीब 10 साल पहले सतीश एयरफोर्स में भर्ती हो गए थे। उनकी उम्र उस समय 17-18 साल थी। उनकी शादी 2013 में जयपुर के सांगानेर की किरण के साथ हुई थी।

ढाई साल का बेटा हर्ष है। 5 बहनों के इकलौते भई थे। सतीश की बड़ी बहनों निर्मला, सुनिता और बनिता की शादी हो चुकी है। दो बहनें नीतू और दर्शना अभी एमए और नर्सिंग कर रही हैं।

airforce sateesh accident

Leave a Reply

Your email address will not be published.