अग्निपथ विरोधी प्रदर्शन में ट्रेन जलाने से हजारों पैसेंजर बीच रास्ते में फंसे, सड़क जाम से बस-कार भी नहीं

खबरें बिहार की जानकारी

सेना में भर्ती के लिए मोदी सरकार की नई योजना ‘अग्निपथ’ के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान बिहार से यूपी तक उपद्रवियों ने कई ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया। इससे हजारों यात्री बीच रास्‍ते में फंस गए हैं। उग्र प्रदर्शन को देखते हुए पूर्व मध्‍य रेलवे और पूर्वोत्‍तर रेलवे ने कई ट्रेनों को रद्द करने के साथ ही कई ट्रेनों का रूट कम और कई का डायवर्ट कर दिया है। रेलवे ट्रैक जाम होने की वजह से कई ट्रेनें रास्‍ते में भी जहां-तहां रोकी गई हैं। ऐसे में यात्रियों को काफी दिक्‍कत हो रही है। ट्रेन से यात्रा संभव होती न देख यात्री बस, कार या किसी अन्‍य साधन से सड़क मार्ग से यात्रा करना चाहें तो जगह-जगह लगे जाम की वजह से ऐसा भी मुमकिन नहीं हो पा रहा है।

बिहार में शुक्रवार को कई ट्रेनें प्रदर्शनकारियों के गुस्‍से का शिकार हुईं। दानापुर स्‍टेशन पर मालदा टाउन-दिल्‍ली एक्‍सप्रेस की बोगियों में आग लगा दी गई। इससे पश्चिम बंगाल से दिल्‍ली जा रहे यात्री बिहार में फंस गए। प्रदर्शनकारियों ने दानापुर रेलवे स्‍टेशन परिसर में जमकर तबाही मचाई। इस दौरान स्‍टेशन परिसर और परिसर के बाहर जमकर तोड़फोड़ की गई। कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया। प्रदर्शनकारियों के रुख को देखते हुए यात्रियों में अफरातफरी मच गई। समस्‍तीपुर में दिल्‍ली से दरभंगा जा रही बिहार संपर्क क्रांति एक्सप्रेस को भी प्रदर्शनकारियों ने तोड़फोड़ के बाद आग के हवाले कर दिया। उन्‍होंने ट्रेन की पांच बोगियों में आग लगा दी जो अन्‍य बोगियों में भी फैलने लगी। समस्तीपुर स्टेशन पहुंचने के पहले आउटर सिग्नल पर ट्रेन रुकी थी। उसी दौरान ‘अग्निपथ’ के खिलाफ आंदोलन कर रहे युवाओं की टोली पहुंची और ट्रेन की बोगियों में तोड़फोड़ शुरू कर दी। ट्रेन पर हमले के बाद यात्री स्‍टेशन पर उतर गए। वहां से अपने गंतव्‍य तक पहुंचने के लिए परेशान होने लगे।

जम्‍मूतवी से गुवाहाटी तक चलने वाली लो‍हित एक्‍सप्रेस में उपद्रवियों ने हाजीपुर रेल खंड के मोहिउद्दीननगर स्टेशन पर आग लगाई। ट्रेन की चार बोगियों से आग की शुरुआत हुई। देखते ही देखते ये बोगियां धू-धूकर जल उठीं। सूचना पर स्थानीय पुलिस पहुंची तो उसकी गाड़ी में भी तोड़फोड़ की गई। बाद में कई थानों की पुलिस पहुंची और स्टेशन के आसपास आधा किलोमीटर के दायरे को सील कर लोगों की आवाजाही रोक दी। ट्रेन में आग लगाए जाने के चलते उसमें सवार यात्री मोहिउद्दीननगर स्‍टेशन पर ही फंस गए। ‘अग्निपथ’ के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे युवाओं ने लखीसराय स्‍टेशन पर भागलपुर से आनंद विहार तक चलने वाली विक्रमशि‍ला एक्‍सप्रेस की दो बोगियों में आग लगा दी जो देखते ही देखते आठ बोगियों तक फैल गई है। प्रदर्शन और उपद्रव की वजह से यात्रियों में दहशत फैल गई। उपद्रव के दौरान आरपीएफ का केवल एक जवान स्टेशन पर मौजूद था। नगर थाने से पुलिस पहुंची लेकिन प्रदर्शनकारियों के उग्र तेवर को देख मूक दर्शक बनी रही। बवाल काटने के बाद प्रदर्शनकारी स्टेशन से बाहर निकल गए लेकिन ट्रेन के यात्री वहीं फंस गए।

समस्‍तीपुर स्‍टेशन पर खड़ी कई ट्रेनों में तोड़फोड़


समस्तीपुर स्टेशन पर खड़ी जयनगर अमृतसर एक्सप्रेस, दरभंगा दिल्ली क्लोन एक्सप्रेस, भागलपुर जम्मूतवी अमरनाथ एक्सप्रेस में तोड़फोड़ के साथ ही स्टेशन पर तोड़फोड़ की गई। पूछताछ कार्यालय तो पूरी तरह तहस नहस कर दिया। ओवरब्रिज की रेलिंग को क्षतिग्रस्त किया। स्टेशन पर रखे सामान को फेंक दिया। उपद्रव के कारण स्टेशन रोड के साथ ही मारवाड़ी बाजार की सभी दुकानें बंद हो गईं। उपद्रवियों ने कर्पूरी बस पड़ाव के बाद नगर थाना और मुफस्सिल थाना पर भी हमला किया। गाड़ियों में तोड़फोड़ करने के साथ कुछ पुलिस कर्मियों को पीट दिया जिससे कई पुलिसकर्मी चोटिल हो गए।

दानापुर डिवीजन की 55 पैसेंजर ट्रेनें रद्द
दानापुर डिवीजन की 55 पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है। 5 ट्रेनों का रूट बदल दिया गया है। डीआरएम प्रभात कुमार ने मीडिया को यह जानकारी दी है।

आरा में सासाराम पैसेंजर ट्रेन में लगाई आग 
प्रदर्शनकारियों ने आरा के कुलहड़िया में ‘अग्निपथ’ के विरोध में सासाराम पैसेंजर ट्रेन में आग लगा दी। ट्रेन देखते ही देखते धू-धू कर जल गई। सैकड़ों की संख्या में प्रदर्शनकारियों ने सुबह 8 बजे लोहिया नगर ढाला 53 बी के पास ट्रैक को जाम कर दिया। वे 05516 डाउन पैसेंजर ट्रेन को रोककर प्रदर्शन करने लगे। देखते ही देखते प्रदर्शनकारी उग्र हो गए और ट्रेन पर पत्थर बरसाने लगे। इसके बाद करीब 8.30 बजे ट्रेन की बोगियों में आग लगा दी।

फातुहा-इस्‍लामपुर इंटर सिटी एक्‍सप्रेस में लगाई आग 
प्रदर्शनकारियों ने पटना से 30 किलोमीटर दूर फतुहा स्टेशन पर खड़ी फतुहा-इस्लामपुर इंटर सिटी ट्रेन में आग लगा दी। सुबह उन्‍होंने दानापुर और बिहटा में रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया था।

सड़क मार्ग से भी यात्रा मुश्किल 
प्रदर्शनकारियों द्वारा ट्रेनों को निशाना बनाए जाने के बाद कई यात्रियों ने सड़क मार्ग से आगे की यात्रा करने की कोशिश की लेकिन जगह-जगह लगे जाम की वजह से यह भी सबके लिए सम्‍भव नहीं हो पाया। सुबह से चल रहे प्रदर्शन के बीच हजारों यात्री जगह-जगह फंसे हैं और अपने गंतव्‍य तक पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.