मुजफ्फरपुर-पटना के बाद हाजीपुर शेल्टर होम में भी होता था लड़कियों के साथ गंदा काम, DPO गिरफ्तार

खबरें बिहार की

पटना: मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड के बाद पटना शेल्टर होम ने पूरे बिहार के साथ साथ देश को हिला कर रख दिया है। इधर एक और मामला प्रकाश में आया है। बताया जा रहा है कि हाजीपुर शेल्टर होम में भी लड़कियों का जबरन शोषन किया जाता है। इसी बीच साक्ष्य जुटाने के बाद हाजीपुर द्वारा बड़ी कार्रवाई की गई है। ताजा अपडेट अनुसार नगर थाने के बाग दुल्हन मुहल्ला स्थित अल्पावास गृह में लड़कियों के साथ यौन उत्पीड़न मामले में पुलिस ने आरोपित जिला परियोजना प्रबंधक (डीपीओ) मनमोहन प्रसाद सिंह को सोमवार की देर शाम गिरफ्तार कर लिया। मामले की जांच के बाद डीएम की रिपोर्ट पर पुलिस ने यह कार्रवाई की है।

हाजीपुर अल्पावास गृह में रह रही लड़कियों ने डीपीओ मनमोहन प्रसाद सिंह पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। इसके बाद प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया था। लड़कियों ने आरोप लगाया था कि जांच के नाम पर डीपीओ अल्पावास गृह आकर लड़कियों के साथ अश्लील हरकत करते थे और मुंह खोलने पर उन्हें जान से मारने की धमकी देते थे। पीड़ित लड़की ने यहां तक बताया था कि मना करने पर उन्होंने एक पीड़ित लकड़ी के कपड़े भी फाड़ दिये थे। डीपीओ अकेले कमरे में आ जाते थे और हाथ-पैर दबाने के लिए दबाव बनाते थे। इस दौरान उनके द्वारा अश्लील हरकत किया जाता था। लड़कियों का आरोप है कि यह कारनामा लंबे समय से चल रहा था।

लेकिन जब सरकार की ओर से इस अल्पावास गृह को समस्तीपुर स्थानांतरित करने का आदेश आया, उसके बाद लड़कियां अधिकारी के खिलाफ मुखर हो गयीं और अल्पावास गृह का काला सच का उजागर कर दिया। मामला प्रकाश में आने के बाद प्रभारी डीएम सर्व नारायण यादव ने इसे गंभीर बताया था और मामले की पूरी जांच करने और दोषी पाये जाने पर आरोपित अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई किये जाने का आश्वासन दिया था।

नगर थाना अध्यक्ष ओम प्रकाश ने कहा कि अल्पावास गृह में लड़कियों के साथ यौन उत्पीड़न मामले में आरोपित डीपीओ मनमोहन प्रसाद सिंह को गिरफ्तार किया गया है। इस सिलसिले में जांच रिपोर्ट के आधार पर डीएम के आदेश पर प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया की जा रही है। उधर गिरफ्तार डीपीओ मदन मोहन प्रसाद सिंह ने नगर थाने पर बताया कि उन्हें एक साजिश के तहत फंसाया गया है। उन पर लगाये गये सभी आरोप गलत व निराधार है।

बताते चले कि जाप के संरक्षक मधेपुरा सांसद पप्पू यादव ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह से जुड़ा एक बड़ा खुलासा किया है। इस खुलासे का इनपुट उन्हें कहाँ से मिला ये तो अभी नहीं बताया लेकिन कहा कि उन्हें पक्की खबर है कि हाजीपुर के एक होटल में लड़कियों को नेताओं के सामने परोसा जाता है। उस समय लड़कियों को मुंह पर रूमाल बांध दिया जाता है। उन्होंने कहा कि होटल इस दौरान वहां होटल के नीचे एसडीओ की गाड़ी लगी रहती है। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच कराकर सरकार इस पर अविलंब कार्रवाई करे। उन्होंने मुजफ्फरपुर के सभी होटलों के सीसीटीवी और रजिस्टर की भी जांच की मांग की।

सांसद पप्पू यादव रविवार को पटना में थे। पटना में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि बिहार में सभी नेता भ्रष्ट हैं। वे केवल एक-दूसरे पर आरोप लगाना जानते हैं।उन्होंने कहा कि इस प्रकरण में यह स्पष्ट हो गया है कि हमाम में सारे नेता नंगे हैं। सभी नेता भ्रष्टचार और व्यभिचार में लिप्त हैं। उन्होंने कहा कि 26 अगस्त से उनकी पार्टी की ओर से बिहार में 12 दिनों पदयात्रा शुरू की जायेगी। उन्होंने मधुबनी से महिलाओं की सुरक्षा के लिए रक्षा बंधन के दिन से मधुबनी से नारी बचाओ अभियान चलाने का एलान भी किया।इस अभियान के तहत पार्टी के कार्यकर्ता प्रदेश की महिलाओं को राखी बंधवा कर उनकी सुरक्षा के लिए संकल्‍प लेंगे। उन्होंने कहा कि मधुबनी से शुरु होनेवाली इस नारी बचाओ पदयात्रा का समापन पटना में शहीद स्‍मारक पर होगा। यह पदयात्रा मुजफ्फरपुर में भी होगी।

Source: Live Bihar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *