पटना: नीतीश कुमार दीपावली के तुरंत बाद मुख्यमंत्री की शपथ ले सकते हैैं। 16- 18  नवंबर के बीच संभावना है कि वह मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। पिछली बार उन्होंने 20 नवंबर को शपथ लिया था। यह तय माना जा रहा कि इस बार भी मुख्यमंत्री का शपथग्रहण समारोह सार्वजनिक रूप से गांधी मैदान में होगा।

सुशील मोदी उप मुख्यमंत्री हुए तो बनेगा रिकॉर्ड

सियासी गलियारे में इस बात की चर्चा है कि इस बार भी सुशील कुमार मोदी ही उप मुख्यमंत्री होंगे। ऐसा हुआ तो सबसे अधिक समय तक उप मुख्यमंत्री रहने का रिकार्ड भी सुशील मोदी के नाम पर दर्ज हो जाएगा। वह नीतीश कुमार की सरकार में वित्त मंत्री का कामकाज भी देखते रहे हैैं।

जदयू और भाजपा कोटे के कई मंत्री हो सकते हैैं रिपीट

ऐसी चर्चा है कि नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में कई पुराने मंत्री रिपीट होंगे। मिथिलांचल ने एनडीए की जीत में बड़ी भूमिका निभायी है। ऐसी संभावना है कि भाजपा के विनोद नारायण झा औैर संजय झा पुन: राज्य मंत्रिमंडल का हिस्सा बन सकते हैैं। ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव व रुपौली से जीतीं गन्ना मंत्री बीमा भारती को भी जगह मिलनी तय मानी जा रही है। महेश्वर हजारी व नंदकिशोर यादव भी पुन: मंत्री होंगे यह भी तय है। खाद्य आपूर्ति मंत्री मदन सहनी भी जीतकर आ गए हैैं। कोसी से नरेंद्र नारायण यादव भी जीत गए हैैं। श्रवण कुमार को नए मंत्रिमंडल में जगह मिलेगी यह तय है।

इन मंत्रियों की जगह नए चेहरे की तलाश

जदयू कोटे से मंत्री रहे कृष्णनंदन प्रसाद वर्मा, जयकुमार सिंह, खुर्शीद उर्फ फिरोज, रामसेवक सिंह, लक्ष्मेश्वर राय, बृजकिशोर बिंद, संतोष निराला और शैलेश कुमार चुनाव हार गए हैैं। श्याम रजक अब पार्टी में हैैं ही नहीं। मंत्री रहे कपिलदेव कामत का निधन हो गया है। भाजपा कोटे के मंत्री सुरेश शर्मा चुनाव हार गए हैैं। विनोद सिंह की मृत्यु हो गयी है। ऐसे में इनकी जगह मंत्रिमंडल में नए चेहरे दिखेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here