BSRTC AC बस सेवा शुरू करने की योजना,दिल्ली, वाराणसी, कोलकाता और काठमांडू तक का सफर अब आसान होगा

खबरें बिहार की

राजधानी पटना से दिल्ली, वाराणसी, कोलकाता और पड़ोसी देश नेपाल के काठमांडू तक का सफर अब आसान होगा. दरअसल बिहार राज्य पथ परिवहन निगम ने इन स्थानों के लिए बस सेवा शुरू करने की योजना बनाई है. अब इन शहरों से बस सेवा शुरू होने के बाद रेल और हवाई यात्रा के साथ ही सड़क सेवा का साधन भी बिहारवासियों को मिल जाएगा. त्योहारों का समय आने वाला है और कनफर्म टिकटों के लिए लंबी वेटिंग, ठसाठस भरी ट्रेन बिहार आने जाने वाली ट्रेनों का अमूमन ऐसा ही हालत रहती है. लेकिन बिहार राज्य पथ परिवहन निगम ने इस स्थिति से लोगों को राहत दिलाने का फैसला किया है.

पटना से मुजफ्फरपुर के लिए AC बस

व्यस्त माने जाने वाले दिल्ली और हावड़ा रूट पर परविहन निगम बस चलाएगा. इसके अलावा बिहार राज्य पर्यटन निगम पटना से दिल्ली व मुजफ्फरपुर के लिए जल्द एयर कंडिशन बस चलाएगा. निगम ने यह निर्णय लोगों की मांग पर लिया है. इसे सप्ताह में दो दिन चलाने की योजना है. अधिकारियों को कहना है कि अक्टूबर, 2018 तक प्रदेश के विभिन्न जिलों के लिए पटना से एसी बस शुरू की जाएगी. इनका किराया अन्य बसों से कम रखने पर बातचीत चल रही है.

अब ऑनलाइन होगी टिकट की बुकिंग

बिहार राज्य पर्यटन निगम अपनी वेबसाइट को अपडेट कर रहा है. यात्री निगम की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन एडवांस टिकट कटा सकेंगे. इसके लिए आर ब्लॉक स्थित पर्यटन निगम के कार्यालय आने की जरूरत नहीं होगी. इसके अलावा प्रदेश के विभिन्न जिलों में स्थित पर्यटन निगम के होटल में रूम भी ऑनलाइन बुक करा सकते हैं.

एकबार में 100 यात्री कर सकेंगे सफर

पयर्टन निगम की डीलक्स बसों में एक साथ करीब 100 यात्री सफर कर सकेंगे. इनमें सभी सीटें आरामदायक होंगी. यात्रियों को सफर के दौरान सड़क पर छोटे-छोटे गढ्ढ़े का अनुभव नहीं होगा. सफर के दौरान यात्रियों को नाश्ता देने की भी योजना पर विचार-विमर्श चल रहा है. यह किराया के अनुसार तय किया जाएगा. गर्मी में ठंडा और ठंड के दिनों में गर्म पानी पीने के लिए मिलेगा. गर्मी में एसी और ठंड के दिनों में ब्लोअर की सुविधा दी जाएगी. किराया कम होने की उम्मीद है. बस चालू होने से 10 दिन पहले नोटिस निकाल दिया जाएगा.
यहां के लिए अक्टूबर से चलेंगी एसी बसें

– पटना से नालंदा होते हुए राजगीर
– पटना से गया होते हुए बोधगया
– पटना से बोधगया होते हुए वाराणसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *