ABN Rajmahal Cruise

ABN Rajmahal Cruise पर दिखा नीतीश का इफैक्ट, बंद हुआ बीयर बार का शटर

खबरें बिहार की राष्ट्रीय खबरें
ABN Rajmahal Cruise में राजशाही ठाठ-बाट

यू तो विदेशियों के लिए ABN Rajmahal Cruise पर विदेशी पर्यटकों के लिए बार में स्पेशल सुविधाएं हैं मगर अफसोस बिहार की धरती पर इस बार में ताला लगा है। कारण है नीतीश इफैक्ट। नीतीश सरकार की शराबबंदी कानून के तहत इस राज्य में शराब के सेवन पर रोक लगी है।

हालांकि हावड़ा से चला गंगा की लहरों पर तैरता ABN Rajmahal Cruise विदेशी पर्यटकों को लेकर तय प्रोग्राम के अनुसार गुरुवार की शाम पटना के गायघाट स्थित बंदरगाह पहुंचा, जहां सभी पर्यटकों का भव्य स्वागत किया गया।

पटना के बाद राजसी ठाठ-बाट वाला यह क्रूज वाराणसी के लिए रवाना होगा। 50 मीटर लंबे इस क्रूज में राजशाही ठाठ उपलब्ध हैं। भारतीय अंतरदेशीय जलमार्ग प्राधिकरण पटना के निदेशक ए के मिश्रा ने बुधवार को बताया कि राजमहल के स्वागत की तैयारी पूरी कर ली गई है।




ABN Rajmahal Cruise पूरी आन बान और शान से तिरंगा लहराता हुआ कल पटना पहुंचा। क्रूज में सभी तरह की सुविधाएं मौजूद हैं और पांच सितारा होटल और राजसी शान को बयां करती सभी तरह की चीजें जहाज के भीतर मौजूद हैं।

लेकिन, क्रूज जैसे ही बिहार की सरहद में पहुंचा इसके बीयर बार काउंटर पर खामोशी छा गई जो बता रही थी कि बिहार में शराब पर रोक है और इसका इल्म विदेशियों को पहले से था और उन्होंने बिहार में आते ही शराब को हाथ भी लगाने से मना कर दिया।




बिहार में बदली सरकार के रूप में नई बयार के बीच राजमहल पहली बार इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी, जापान, न्यूजीलैंड के विदेशी मेहमानों को लेकर पटना पहुंचा है। गुरुवार की दोपहर 3:30 बजे गायघाट स्थित बंदरगाह के सामने ही राजमहल को बीच गंगा में रोका गया।

मोटर बोट से सैनालियों को गंगा तट पर लाया गया। भारतीय अंतरदेशी जलमार्ग प्राधिकरण के सहायक निदेशक एके सिंह ने बताया कि शुक्रवार की दोपहर 21 विदेशी पर्यटकों को लेकर राजमहल गंगा के रास्ते बनारस के लिए रवाना होगा।
बीस को हावड़ा से चला था




असम बंगाल नेवीगेशन कंपनी के ABN Rajmahal Cruise के मैनेजर कुणाल ने बताया कि जहाज 2014 में निर्मित हुआ। 14 फरवरी को वेलेंटाइन डे के दिन अपने पहले सफर में यह पटना पहुंचा था। तब इस पर कई विदेशी कपल सवार थे।

ABN Rajmahal Cruise

इस बार 20 जुलाई को हावड़ा से यह सैलानियों को लेकर 17वें दिन राजमहल जलमार्ग से पटना पहुंचा। पर्यटकों ने चंदन नगर, कालना, मायापुर, मुर्शीदाबाद, राजमहल, विक्रमशिला, भागलपुर, मुंगेर आदि जगहों की सैर की।

राजमहल में 40 पर्यटकों के लिए राजशाही ठाठ-बाट उपलब्ध है। 51 मीटर लंबा यह क्रूज वातानुकूलित है। 22 केबिन वाले इस क्रूज में 18 डबल और चार सिंगल कमरे हैं। एक सैलून, लॉन, सन डेस्क, बियर बार, वाईफाई सुविधा है। एक पर्यटक के एक रात राजमहल में गुजारने का किराया 12000 है। न्यूनतम सात दिन का टूर प्लान है। सुकून भरे पल के साथ यादगार सफर करते हुए छुट्टियों को अनमोल बनाने के लिए दो मंजिला क्रूज पर बहुत कुछ है।



Leave a Reply

Your email address will not be published.