अब वकील बनना आसान नहींः BRA बिहार यूनिवर्सिटी में कड़ा हुआ लॉ में दाखिले का नियम, समझें एडमिशन की प्रक्रिया

खबरें बिहार की जानकारी

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में अब लॉ में दाखिला संयुक्त प्रवेश परीक्षा के आधार पर होगा। विवि प्रशासन इसकी तैयारी में जुट गया है। अगले सत्र 2023 से लॉ के लिए यह परीक्षा आयोजित होगी। एसे में वकील बनना अब आसान नहीं होगा। पहले कॉलेज स्तर पर परीक्षा होती थी जिसमें कंपिटीशन कम था। संयुक्त प्रवेश परीक्षा में यह कड़ा हो जाएगा। इसमें पास करने वालों का ही एडमिशन हो पाएगा। उन्हें कम नंबर आने पर मनचाहा कॉलेज नहीं मिलेगा।

परीक्षा नियंत्रक डॉ. संजय कुमार ने शुक्रवार को इसकी जानकारी देते हुए बताया कि बिहार विवि के अंतर्गत लॉ के तीन कॉलेज संचालित होते हैं। तीनों कॉलेज मिलाकर 540 सीटें हैं। अभी सभी कॉलेज अपने स्तर से ही प्रवेश परीक्षा लेकर दाखिला लेते हैं। प्रवेश परीक्षा में पास करने पर ही छात्रों का दाखिला लिया जाता है। तीन कॉलेजों में दो संबद्ध और एक अंगीभूत इकाई है। परीक्षा विभाग के अनुसार बार काउंसिल से मान्यता आते ही संयुक्त प्रवेश परीक्षा की तैयारी शुरू हो जाएगी।

पहली बार संयुक्त प्रवेश परीक्षा

बिहार विवि में पहली बार लॉ में दाखिले के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा होगी। पूरे बिहार में पटना विवि के बाद बीआरएबीयू में यह व्यवस्था शुरू हो रही है। बाकी विश्वविद्यालयों में कॉलेज खुद से लॉ की प्रवेश परीक्षा लेते हैं और उसका रिजल्ट जारी करते हैं। पूरे बिहार में लॉ के 26 कॉलेज हैं। तीन वर्षीय लॉ और पांच वर्षीय लॉ दोनों के लिए प्रवेश परीक्षा ली जाएगी।

परीक्षा में पूछे जाएंगे ऑब्जेक्टिव सवाल 

लॉ की प्रवेश परीक्षा में छात्रों से ऑब्जेक्टिव सवाल पूछे जाने पर विचार किया जा रहा है। पांच वर्षीय लॉ में इंटर स्तर के और तीन वर्षीय लॉ में स्नातक स्तर के सवाल पूछे जाएंगे। कॉपियां जांच को बाहर भेजी जा सकती हैं। फॉर्म ऑनलाइन भरेगा व ऑनलाइन ही एडमिट कार्ड जारी किया जाएगा।

कॉलेजों की फीस पर अभी विचार नहीं

विवि प्रशासन के अनुसार अभी कॉलेजों की फीस संचरना पर विचार नहीं किया गया है। मौजूदा समय में सभी कॉलेजों की फीस अलग-अलग है। सूत्रों के अनुसार कॉलेजों की फीस में विवि कोई बदलाव नहीं करेगा। प्रवेश परीक्षा पास करने वाले छात्रों की सूची विवि की ओर से कॉलेजों को जाएगी।

मेधा सूची के अनुसार छात्रों को मिलेगा कॉलेज

परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि परीक्षा के बाद मेधा सूची जारी की जाएगी। इसके अनुसार कॉलेज आवंटित होंगे। लॉ कॉलेज में सीटों के अनुसार सूची जारी की जाएगी। इसमें नामांकन रोस्टर का भी पालन किया जाएगा। अप्रैल-मई से प्रक्रिया शुरू हो जाएगी व जून-जुलाई में परीक्षा ली जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.