अब गुरुजी की हाजिरी लगाएंगे अभिभावक, प्रमंडलीय आयुक्त ने जारी किया वाट्सएप नंबर

खबरें बिहार की जानकारी

अमूमन गुरु जी (शिक्षक) बच्चों की हाजिरी (उपस्थिति) दर्ज करते हैं। अब अभिभावक गुरु जी की हाजिरी अभिभावक लगाएंगे। अगर कोई शिक्षक बिना अवकाश के विद्यालय से गायब रहेंगे, तो अब उस विद्यालय में पढ़ने वाले छात्र के अभिभावक शिक्षक की शिकायत दर्ज कराएंगे। अभिभावकों की शिकायत पर संज्ञान लिया जाएगा। शिक्षा विभाग के अधिकारी मामले की जांच करेंगे। शिकायत सही पाए जाने पर संबंधित शिक्षक पर कार्रवाई भी की जाएगी। मंगलवार को प्रमंडलीय आयुक्त दयानिधान पांडेय ने शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान यह नई व्यवस्था लागू की। प्रमंडलीय आयुक्त ने वाट्सएप नंबर जारी किया। अभिभावक 927920224 नंबर पर बच्चे का नाम, क्लास और रौल नंबर लिख कर शिकायत दर्ज कराएंगे। प्रमंडलीय आयुक्त कार्यालय से संबंधित शिकायत पर कार्रवाई के लिए शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों को सूचना दी जाएगी। सूचना पर शिक्षा विभाग के अधिकारी विद्यालय पहुंच कर जांच करेंगे। शिकायत सही पाए जाने पर संबंधित शिक्षक पर कार्रवाई की जाएगी।

अवकाश के लिए तीन दिन पूर्व देना होगा शिक्षकों को आवेदन

दो माह के निरीक्षण प्रतिवेदन की समीक्षा के दौरान यह बातें सामने आई कि कई विद्यालयों में कम शिक्षक होने के बाद भी एक साथ कई शिक्षक अवकाश पर चले जाते हैं। विद्यालय की शैक्षणिक व्यवस्था पर इसका प्रतिकूल असर पड़ता है। एक शिक्षक को एक साथ कई कक्षा के छात्रों को पढ़ाना पड़ता है। ऐसे में छात्र हित को ध्यान में रखते हुए प्रमंडलीय आयुक्त ने निर्देश दिया कि अब जिन विद्यालयों में पांच या पांच से कम शिक्षक हैं, वहां प्रधानाध्यापक प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी से अनुमोदन के बाद शिक्षकों का अवकाश स्वीकृत करेंगे। वहीं, कई बार शिक्षक किसी से आवेदन विद्यालय भेज कर या कार्यालय में अवकाश आवेदन देकर अवकाश पर चले जाते हैं।

अब शिक्षक सामान्य परिस्थिति में अवकाश के लिए तीन दिन पूर्व आवेदन देंगे। प्रधानाध्यापक दो दिन पूर्व पत्र जारी कर अवकाश स्वीकृत होने की सूचना संबंधित शिक्षक को देंगे। वहीं, अवकाश पंजी का संधारन नियमित करने के निर्देश दिए गए।

बांका और रजौन के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी का 50 प्रतिशत वेतन कटौती के आदेश

निरीक्षण प्रतिवेदन की समीक्षा के दौरान यह बातें सामने आई कि बांका जिला के बांका और रजौन प्रखंड के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी का निरीक्षण प्रतिवेदन संतोषजनक नहीं है। प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी रजौन के निरीक्षण प्रतिवेदन की समीक्षा के दौरान ऐसा प्रतीत हुआ कि उनका निरीक्षण प्रतिवेदन

किसी अन्य द्वारा तैयार किया गया। प्रमंडलीय आयुक्त ने बांका के जिला शिक्षा पदाधिकारी को दोनों प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों के वेतन से 50 प्रतिशत राशि की कटौती करने के निर्देश दिए। बांका के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ही बराहाट प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी के प्रभार में हैं। ऐसे में बांका के जिला शिक्षा पदाधिकारी को बराहाट प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी का पदभार किसी दूसरे पदाधिकारी को सौंपने के निर्देश दिए। वहीं, बीइईओ से स्पष्टीकरण पूछने के भी निर्देश दिए गए।

शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति होगी रद

प्रमंडलीय आयुक्त ने बीते माह हुई समीक्षा बैठक में सभी शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति रद करने के आदेश दिए। समीक्षा बैठक में यह बातें सामने आई कि अब भी कई बीडीओ अपने कार्यालय में शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति किए हुए हैं। प्रमंडलीय आयुक्त ने दोनों जिला के जिला शिक्षा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि अविलंब सभी शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति रद करें। वहीं, प्रतिनियुक्ति करने वाले अधिकारियों की सूची उपलब्ध कराएं। ऐसे अधिकारियों से स्पष्टीकरण मांगा जाएगा।

एमडीएम में गड़बड़ी पर होगी कार्रवाई

निरीक्षण प्रतिवेदन की समीक्षा के दौरान यह बातें सामने आई कि दर्जनों विद्यालयों में छात्रों की उपस्थिति कम थी। दूसरी ओर भागलपुर में 59.15 और बांका में 64.57 प्रतिशत बच्चों को प्रधानमंत्री पोषण योजना के तहत मध्याह्न भोजन से लाभान्वित करने की बात कही गई है। ऐसे में शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया गया कि दोनों जिला के जिला कार्यक्रम पदाधिकारी मध्याह्न भोजन निरीक्षण की तिथि के दौरान विद्यालयों में बच्चों की उपस्थिति और मध्याह्न भोजन से लाभान्वित होने वाले बच्चों की संख्या का मिलान कर लें। अगर, गड़बड़ी की बात सामने आती है, तो संबंधित प्रधानाध्यापक से स्पष्टीकरण मांगे।

कस्तूरबा विद्यालय में बनेगी चाहरदीवारी

भागलपुर जिला के गोराडीह, ईस्माइलपुर, नाथनगर, नवगछिया, सबौर प्रखंड में संचालित कस्तूरबा विद्यालय में चाहरदीवारी का अभाव है। प्रमंडलीय आयुक्त ने भागलपुर डीएम को चाहरदीवारी का निर्माण कराने के निर्देश दिए। वहीं, दोनों जिला के सिविल सर्जन को निर्देश दिया गया कि प्रत्येक माह अनिवार्य रूप से कस्तूरबा विद्यालय की छात्राओं का स्वास्थ्य जांच कराना सुनिश्चित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.