अब अजगैबीनाथ धाम होगा सुल्तानगंज का नाम, श्रावणी मेला को राष्ट्रीय दर्जा देने की मांग

आस्था खबरें बिहार की जानकारी

भागलपुर के सुल्तानगंज में बिहार-झारखंड के विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला का उद्घाटन हो गया है। इस बीच सुल्तानगंज का नाम बदलकर बाबा अजगैबीनाथ धाम किया किए जाने की घोषणा की गई है। इसके लिए जल्द कवायद शुरू होगी। सुल्तानगंज में नमामि गंगे घाट पर श्रावणी मेला के उद्घाटन के बाद सूबे के उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने इसकी घोषणा की। सुल्तानगंज स्थित गंगा से जलभर कर श्रद्धालू कांवर यात्रा करके देवघर में बाबा वैद्य़नाथ का जलाभिषेक करते हैं।

उन्होंने कहा कि इसके लिए प्रस्ताव सामान्य प्रशासन विभाग को भेजा जाएगा। नामकरण को लेकर सर्वानुमति बनाने का प्रयास किया जाएगा। गुरुवार को उद्घाटन समारोह के दौरान स्थानीय विधायक सहित कई वक्ताओं ने  सुल्तनागंज का नाम बदलने की मांग की। जिस पर डिप्टी सीएम ने पहल करने का आश्वासन दिया। डिप्टी सीएम ने कहा कि श्रावणी मेला के लिए सुल्तानगंज और पूरे कांवरिया पथ में अच्छी व्यवस्था की गई है।

30.71 करोड़ की लागत से रिवर फ्रंट 

सुल्तानगंज में नमामि गंगे योजना से 30.71 करोड़ की लागत से रिवर फ्रंट बनाया गया है। इसकी लंबाई 125 मीटर है। इसके अलावा गंगा घाट पर लकड़ी के चार शवदाह गृह, चेंजिंग रूम, शौचालय आदि की व्यवस्था की गयी है। इसी तरह सीढ़ी घाट को भी बनाने की योजना है। मौके पर राज्य के पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि सुल्तानगंज में ओवरब्रिज से जोड़ने के लिए एक पुल का निर्माण किया जाएगा। वहीं, बांका के प्रवेश द्वार धौरी गेट पर भी मेले का उद्घाटन हुआ। सुल्तानगंज स्थित गंगा से जलभर कर श्रद्धालू कांवर यात्रा करके देवघर में बाबा वैद्य़नाथ का जलाभिषेक करते हैं।

समारोह में मेला को राष्ट्रीय दर्जा देने की मांग उठी

उद्घाटन समारोह में स्थानीय सांसद और विधायक ने सुलतानगंज के श्रावणी मेला को राष्ट्रीय मेला का दर्जा देने की मांग की। बांका सांसद गिरधारी यादव ने कहा कि सावन के अलावा भादो में भी काफी संख्या में कांवरिया सुल्तानगंज से जल लेकर देवघर जाते हैं। सांसद ने राष्ट्रीय मेला का दर्ज देने की मांग की। भागलपुर सांसद अजय कुमार मंडल ने कहा कि कई युगों से श्रावणी मेला चल रहा है। सावन की तरह सरकार भादो में भी व्यवस्था करे। सुल्तानगंज विधायक ललित नरायण मंडल ने नमामि गंगे योजना के तहत सीढ़ी घाट का निर्माण और सौन्दर्यीकरण कराने, सुल्तानगंज को पर्यटन क्षेत्र घोषित करने, अजगैबीनाथ मंदिर घाट से
कृष्णगढ़ घाट होते हुए रेलवे ओवरब्रिज तक मरीन ड्राइव की तर्ज पर सड़क का निर्माण करने आदि की मांग की। जिला परिषद अध्यक्ष अनंत कुमार उर्फ टुनटुन साह ने भी भादो में कांवरियों की व्यवस्था करने की मांग की। समारोह के बाद विधान पार्षद विजय कुमार सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय मेला का दर्जा देने के साथ सरकार सुल्तानगंज को अनुमंडल बनाये।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.