अब 20 मिनट में पूरा होगा 6 घंटे का काम, आधुनिक तकनीक से लैस हुआ जमालपुर कारखाना

खबरें बिहार की जानकारी

जमालपुर रेल कारखाने को और दक्ष बनाने के लिए रेलवे ने बड़ी पहल की है। भारतीय रेलवे ने इसे आधुनिक तकनीक 4.0 इंडस्ट्री से लैस किया गया है। यह पूर्व रेलवे का आधुनिक सिस्टम से लैस होने वाला पहला कारखाना बन गया है। यहां विदेशी टेक्नोलाजी की 20 मशीनें स्थापित की गई हैं। नई तकनीक से उत्पादन और मरम्मत का काम और तेजी से होगा। कारखाने में अब स्वीडन, जेफरा कंपनी व एमडीसी प्लस (ऐप) का प्रयोग शुरू हो गया है। इससे कम मैन पावर में गुणवत्तापूर्ण काम लिया जा रहा है।

20 मिनट में पूरा होगा 6 घंटे का काम

इसके पहले कारखाना में कर्मियों के कामों को देखने के लिए अधिकारियों को लगाया जाता था। अब मशीन से ही इनकी मानिटरिंग की जाएगी। 20 मशीनों को सीधे कंप्यूटर से जोड़ा गया है। अधिकारी अब कार्यालय में बैठकर मशीन की सभी गतिविधियां देख सकेंगे। पांच से छह घंटे का काम 20 मिनट में मशीन से पूरा किया जाएगा। इसमें 10 के बदले मात्र एक कर्मचारी का इस्तेमाल होगा।

पहले चरण में कारखाने के बीएलसी, बीएसटी, मशीन शाप व व्हील शाप को ऐप के माध्यम से जोड़ा गया है। मशीन पर वैगन के पहिये का काम होगा। मालगाड़ी के व्हील प्रेशर, सरफेस प्रेशर, एक्शन वार्निंग, वैगन स्नाइगर कटिंग सहित मैन्युफैक्चरिंग के कई तरह के पार्ट्स के गुणवत्तापूर्ण काम होंगे।

पहले चरण में तीन पुरानी, 17 नई मशीनें जुड़ीं

रेल कारखाने की उत्पादन क्षमता को गुणवत्ता प्रदान करने वाली यह नई तकनीक है। जमालपुर रेल कारखाने में पहले चरण में तीन पुरानी व 17 नई मशीनें जुड़ गई हैं। आने वाले दिनों में और मशीनें लगेंगी। अत्याधुनिक तकनीक से उत्पादन क्षमता को बढ़ाने के लिए मुख्य कारखाना प्रबंधक सुदर्शन विजय के साथ डिप्टी डीजल प्रेम प्रकाश की पहल की सराहना पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक अनंत अरोड़ा ने की है। उन्होंने कारखाना के कर्मियों को भी बधाई दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.