RRB-NTPC बवाल: आज बिहार बंद पर तगड़ी सुरक्षा, खान सर ने वीडियो जारी कर छात्रों से प्रोटेस्ट नहीं करने की अपील की

खबरें बिहार की जानकारी

आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा को लेकर छात्रों ने शुक्रवार को बिहार बंद का आह्वान किया है। इस बंद को महागठबंधन समेत तमाम राजनीतिक पार्टियों का भी समर्थन मिला है। बिहार और रेलवे पुलिस ने इससे निबटने की तैयारियां भी कर रखी हैं। इस बीच पटना के मशहूर टीचर और यूट्यूबर खान सर ने एक वीडियो जारी किया है। इस वीडियो में उन्होंने छात्रों से शुक्रवार को किसी प्रकार का प्रोटेस्ट या प्रदर्शन नहीं करने की अपील की है।

बिहार में चार दिन से हो रहे बवाल के पीछे पुलिस ने खान सर की भूमिका को भी भड़काने वाला माना था। खान सर समेत कई कोचिंग संचालकों के खिलाफ बुधवार की रात केस भी दर्ज किया गया है। गुरुवार को दिनभर खान सर का मोबाइल भी बंद रहा।

 

देर रात करीब सवा ग्यारह बजे खान सर ने अपने यूट्यूब चैनल पर छात्रों के लिए वीडियो संदेश डाला। खान सर ने वीडियो में बार-बार छात्रों से अपील की कि शुक्रवार को कोई छात्र प्रोटेस्ट न करे। खान सर ने कहा कि रेलवे को इंटेलिजेंस से रिपोर्ट मिली है कि गोरखपुर के कुछ छात्र गड़बड़ी कर सकते हैं। खान सर ने कहा कि गोरखपुर के छात्र हम लोगों से अलग नहीं हैं। ऐसे में सभी जिलों के छात्रों से अपील है कि कोई भी सड़क पर न उतरे और किसी प्रकार का प्रोटेस्ट न करे। 

 

खान सर ने भाजपा सांसद और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम सुशील मोदी के वीडियो का हवाला देते हुए कहा कि उन्होंने भी रेलमंत्री से बात की है। छात्रों की सभी मांगों पर सहमति बन गई है। कहा कि छात्रों की 20 गुना रिजल्ट देने और यूनीक नंबर वाली मांग लगभग मान ली गई है। यही नहीं, सीबीटी-2 को भी हटाने पर सहमति बन गई है। 

 

खान सर ने कहा कि यह सहमति आरआरबी की तरफ से नहीं हुई है। यह सहमति प्रधानमंत्री की दखल के बाद रेलमंत्री की तरफ से हुई है। रेलमंत्री और प्रधानमंत्री की दखल के बाद काम आसानी से हो रहा है। ऐसे में प्रोटेस्ट करके इस काम को बिगाड़ना नहीं चाहिए।

 

खान सर ने कहा कि सहमति को भी चुनाव से जोड़ रहे हैं। ये गलत है। सहमति के पीछे पीएमओ की डेड लाइन है। इसका चुनाव से कोई लेना-देना नहीं है। अगर आप लोग प्रोटेस्ट करेंगे तो कुछ अराजकतत्व आकर बवाल करेंगे और आप लोग बदनाम होंगे। अधिकारियों से हमारी लगातार बात हो रही है। अगर आप हिंसा करेंगे या प्रदर्शन करेंगे तो हमारी बात कैसे होगी। ऐसे में किसी भी जिले का कोई भी छात्र प्रोटेस्ट नहीं करेगा।

 

खान सर ने कहा कि हम लोग बिना फीस लिये बच्चों को पढ़ा रहे हैं, इसके बाद भी शिक्षा माफिया कहा जाता है। अगर प्रोटेस्ट हुआ और उसमें हिंसा हुई तो हमें तालिबानी कहने लगेंगे। हमेशा हम आपके लिए खड़े रहे हैं। कल यानी शुक्रवार को आप लोग हमारे लिए खड़े रहिये और किसी प्रकार का प्रोटेस्ट मत कीजिये। खान सर ने यहां तक कहा कि केस दर्ज होने के बाद से हमारी मां बहुत परेशान हैं। हमें उनको भी जवाब देना है।

 

पुलिस अलर्ट, 25 सौ जवान व 100 मजिस्ट्रेट तैनात

आरआरबी एनटीपीसी रिजल्ट में गड़बड़ी को लेकर नाराज छात्रों द्वारा शुक्रवार को बिहार बंद के आह्वान को लेकर पुलिस प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट है। विधि व्यवस्था को दुरुस्त बनाने व उपद्रवियों से सख्ती के साथ निबटने के लिए पुलिस ने कमर कस ली है।

 

इसके लिए थानों के साथ ही 25 सौ से अधिक पुलिसकर्मियों के साथ ही 100 से अधिक दंडाधिकारियों की भी तैनाती की गई है। डीएसपी के साथ ही एएसपी भी अपने क्षेत्रों में भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेंगे।

 

सुबह से ही पुलिस चौक-चौराहों के साथ ही संवेदनशील जगहों पर तैनात कर दी जाएगी। एसएसपी डॉ. मानवजीत सिंह ढिल्लो द्वारा उपद्रव करने वाले लोगों से सख्ती के साथ निबटने का कड़ा निर्देश दिया गया है।

 

क्यूआरटी के साथ अतिरिक्त फोर्स तैनात

एएसपी विधि व्यवस्था संजय कुमार सिंह ने बताया कि सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस लाइन में क्यूआरटी के साथ ही अतिरिक्त फोर्स मौजूद रहेगी। जरूरत पड़ने पर यहां से फोर्स मौके के लिए रवाना की जाएगी। अग्निशमन विभाग को दमकल टीम और वाटर कैनन के साथ मुस्तैद रखने के निर्देश दिए गए हैं। वज्र वाहन के साथ पुलिस आंसू गैस के साथ लैस रहेगी। आरएएफ के जवान भी चप्पे-चप्पे पर मुस्तैद रहेंगे। भीड़ वाले जगहों की वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी। 

छावनी में तब्दील रहेंगे रेलवे स्टेशन

 

जीआरपी भी अलर्ट

बिहार बंद को लेकर जीआरपी भी अलर्ट है। रेल एसपी प्रमोद मंडल ने जीआरपी को पूरी तरह से मुस्तैद रहने को कहा है। पटना जंक्शन जीआरपी थाना प्रभारी रंजीत कुमार ने बताया कि हर स्तर पर चौकसी बरती जा रही है। रेलवे स्टेशन छावनी में तब्दील कर दिए गए हैं। रेल ट्रैकों पर भी पेट्रोलिंग बढ़ा दी गई है। यदि कहीं पर रेलवे ट्रैक जाम कर ट्रेनों को रोकने आदि की कोशिश की गई जो जीआरपी ऐसे लोगों के साथ सख्ती से निबटेगी।

 

राजद ने सुशील मोदी पर गुमराह करने का आरोप लगाया

राजद के प्रदेश प्रवक्ता चित्तरंजन गगन ने भाजपा सांसद सुशील कुमार मोदी पर बयानबाजी कर आरआरबी, एनटीपीसी के अभ्यर्थी छात्रों को गुमराह करने का आरोप लगाया। गुरुवार को जारी बयान में श्री गगन ने कहा कि छात्र उनके प्रपंच का शिकार होने वाले नहीं है। कहा कि सवाल यह है कि जब रेल मंत्री छात्रों की मांगों को मानने के लिए राजी हैं तो फिर कमेटी की क्या आवश्यकता है और फिर उसके रिपोर्ट की प्रतिक्षा क्यों? राजद प्रवक्ता ने कहा कि 28 जनवरी के बिहार बंद को ऐतिहासिक रूप से सफल बनाना है।  

 

बंद के समर्थन में रहेंगे कई छात्र संगठन, उतरेंगे सड़क पर

आरआरबी एनटीपीसी में हुई व्यापक धांधली और छात्रों पर किए गए फर्जी मुकदमे को वापस लेने की मांग को लेकर शुक्रवार को जन अधिकार छात्र परिषद पूर्ण रूप से बिहार बंदी का समर्थन करते हुए सड़कों पर उतरेगी। यह घोषणा छात्र जाप के उपाध्यक्ष सह पटना विवि छात्र संघ अध्यक्ष मनीष यादव ने की है। 

इधर एनटीपीसी परीक्षा के परिणाम में धांधली के खिलाफ राजेंद्र नगर टर्मिनल सहित अन्य जगहों पर प्रदर्शन कर रहे रेलवे अभ्यर्थियों पर बर्बरतापूर्वक पुलिसिया लाठीचार्ज के खिलाफ एआईएसएफ राज्य परिषद के अमीन हमजा बंद का समर्थन करेंगे। 

 

हॉस्टलों में चला अभियान

वहीं स्टूडेंट्स इस्लामिक आर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया (एसआईओ) बिहार के अध्यक्ष दानियाल अकरम ने बंद का समर्थन किया है। छात्रों पर हुई लाठीचार्ज के विरोध में सड़कों पर उतरने की बात कही है। छात्र संगठन आइसा व नौजवान संगठन इनौस के आह्वान पर 28 जनवरी को प्रस्तावित बिहार बन्द की तैयारी में गुरुवार को पटना सहित कई जिलों में छात्रों द्वारा अभियान चलाया गया।

 

हॉस्टल के साथ-साथ छात्र-युवा नेताओं ने आम लोगों के बीच अभियान चलाया और बन्द को सफल बनाने की अपील की। इनौस के राष्ट्रीय अध्यक्ष व अगिआंव विधायक मनोज मंजिल, आइसा के महासचिव व विधायक संदीप सौरभ, इनौस के राज्य अध्यक्ष व विधायक अजीत कुशवाहा, इनौस के राज्य अध्यक्ष आफताब आलम, आइसा के राज्य अध्यक्ष विकास यादव, इनौस के राज्य सचिव शिवप्रकाश रंजन व आइसा के राज्य सचिव सब्बीर कुमार ने संयुक्त प्रेस बयान जारी कर कहा कि बेरोजगारी की मार झेल रहे छात्र-युवाओं का यह व्यापक आंदोलन ऐसे वक्त खड़ा हुआ है, जब यूपी में चुनाव है। इसी के दबाव में सरकार व रेलवे का यह प्रस्ताव आया है और चुनाव तक इस मामले को टालने की साजिश रची जा रही है। 

 

छात्रों के बिहार बंद का महागठबंधन ने किया समर्थन

महागठबंधन ने छात्रों के 28 जनवरी यानी शुक्रवार के प्रस्तावित बिहार बंद का समर्थन किया है। महागठबंधन के घटक दलों ने संयुक्त रूप से राजद प्रदेश कार्यालय में गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी घोषणा की। राजद प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह की अध्यक्षता में महागठबंधन के सभी घटक दल कांग्रेस, भाकपा, माकपा, भाकपा माले के नेता प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए। 

 

सभी ने छात्रों की मांगों को जायज बताया और उन पर त्वरित निर्णय लेने की मांग की। जगदानंद सिंह ने रेलवे को कमजोर करने और उसे निजीकरण की ओर धकेलने का आरोप लगाया। कहा कि 2 करोड़ 42 लाख छात्रों के भविष्य का सवाल है। वहीं, उन्होंने कहा कि विधान परिषद चुनाव को लेकर चार दिनों बाद सीटों का अंतिम निर्णय किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.