मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के गांधीनगर में एक 12 साल की बच्ची बहादुरी का शानदार नमूना पेश करते हुए अपने घर में घुसे चोर को खदेड़ दिया. चोर ने बच्ची का गला दबाकर उसे मारने की कोशिश की. लेकिन बच्ची ने उसे जीतने नहीं दिया और चोर को आखिरकार भागने पर मजबूर कर दिया.

गांधी नगर पुलिस के मुताबिक नरेंद्र जायसवाल हेल्थ मिशन में मैनेजर हैं. शुक्रवार रात नरेंद्र, उनकी पत्नी और बेटा अपने कमरे में सो रहे थे. जबकि उनकी 12 साल की बेटी काव्या अपने रूम में थी. रात ढ़ाई बजे के करीब काव्या ने शोर मचाया तो नरेंद्र और उनकी पत्नी की नींद खुली. इन्होंने अपने कमरे से बाहर निकलना चाहा तो दरवाजा बाहर से बंद मिला.

काव्या ने मुंह पर जड़ा पंच तो भागा बदमाश
काव्या ने पुलिस को बताया कि वह सो रही थी, अचानक नींद खुली तो उसने अपने कमरे में चोर को देखा. वह कुछ समझ पाती उससे पहले ही चोर उसके ऊपर बैठ गया. चोर दोनों हाथों से काव्या का गला दबाने लगा. काव्या ने चोर के मुंह पर जोरदार पंच जड़ा. पंच लगने पर चोर की काव्या के गले पर पकड़ कमजोर हुई. उसके बाद काव्या ने शोर मचाना शुरू किया तो चोर कूदकर बाहर भाग गया.

घर से 700 रुपये और सामान लेकर भागा चोर
नरेंद्र और उनकी पत्नी को लगा था कि उनकी बेटी काव्या बुरा सपना देखकर डर गई है, इसलिए शोर मचा रही है. काव्या ने अपने मां​-पिता के कमरे का दरवाजा खोला और घटना के बारे में बताया. नरेंद्र ने जब बालकनी से बाहर झांका तो उन्होंने देखा कि चोर पहली मंजिल के दरवाजे से निकलकर टीन शेड वाली छत से होकर बाहर भाग रहा था. चोर नरेंद्र के घर से 700 रुपए और कुछ सामान लेकर भागने में सफल रहा.

Sources:-Zee News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here