दिहाड़ी से घर चलाने वाली मजदूर की पत्नी, जो ‘सालतोरा’ से जीतकर विधायक बन गई

जिंदगी

Patna: प. बंगाल के बांकुड़ा जिले के अंतर्गत आने वाली सालतोरा विधानसभा सीट से जीत दर्ज कर मजदूर की पत्नी चंदना बाउरी ने इतिहास रच दिया है. बीजेपी के टिकट से चुनाव लड़ी चंदना का मुकाबला टीएमसी के संतोष मोंडल से था. इस मुकाबले में चंदना ने चार हजार से अधिक वोटों से संतोष मोंडल का हरा दिया. चंदना को 42167 मिले, जबकि संतोष को 38393 वोट मिले.

चंदना की यह जीत इसलिए भी खास है क्योंकि वो एक बेहद गरीब परिवार से आती हैं. संपत्ति के नाम पर उनके पास 3 बकरियां, 3 गाए और एक झोपड़ी है. उनके घर में टॉयलेट तक नहीं है. उनके पति एक दिहाड़ी मजदूर हैं. जो रोजाना सिर्फ 400 रुपए कमा पाते हैं. चुनाव आयोग को दिए शपथपत्र के अनुसार उनके उनकी कुल अचल संपत्ति 31985 रुपए है. 

चंदना ज्यादा पढ़ी-लिखा भी नहीं हैं. वो महज़ 12वीं तक ही पढ़ी हैं. बावजूद इसके जनता ने उन पर अपना भरोसा जताया है. ऐसे में देखना दिलचस्प होगा कि वो विधायक बनकर किस तरह से लोगों के बीच काम करती हैं. बता दें, साल 2011 के विधानसभा चुनाव में भी इस सीट पर टीएमसी के स्वप्न बोरी ने सीपीएम के प्रत्यासी को 12 हजार से ज्यादा मतों से हराया था.  

Source: Indiatimes Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.