Patna: हाल में ही बिहार विधानसभा का चुनाव संपन्न हुआ है इस चुनाव में कई विधायक चुने गए हैं इन विधायकों में से एक विधायक ऐसे भी हैं जो आज के आडंबर के दौर में भी सादगी से जीता है।जी हां हम बात कर रहें है 143 तेघरा विधानसभा से रिकॉर्ड मतों(लगभग 48 हजार) से जीते सीपीआई के विधायक रामरतन सिंह की जो पहले भी कई बार मुखिया और जिला परिषद सदस्य पद को सुशोभित कर चुके हैं और कई वर्षों से आरसीएसएस कॉलेज बीहट के सचिव और चाँद सुरज अस्पताल पपरौर के उप महानिदेशक भी रहे है ।

स्टूडेंट्स क्लब जैसी कई संस्थाएं इनके संरक्षण में फल फूल रही है।इनके दिन की शुरुआत जनता के समस्याओं से शुरू होती है और दिन का अंत भी इसी तरह। प्रत्येक दिन सुबह 9:00 बजे ये अपनी साइकिल से बरौनी सीपीआई कार्यालय पर पहुंच जाते हैं और जनता के लिए दिन भर सुलभ रहते हैं।कम संसाधन उपलब्ध होने के बावजूद भी ये क्षेत्र की जनता के सुख-दुख में हरदम हंसते और रोते नजर आते हैं।

समस्या चाहे थाना का हो,चाहे पढाई-लिखाई का हो,चाहे आपसी विवाद का हो या अस्पताल का लोग तुरंत सर्व सुलभ रामरतन सिंह के पास पहुंचते हैं।सादगी इतनी कि पहले उप मुखिया फिर मुखिया फिर जिला पार्षद और अब विधायक बनने के बाद भी चार चक्का वाहन का उपयोग नहीं करते और सुरक्षा गार्ड का भी नहीं।

लोग इन्हें आज भी प्यार से “मुखिया जी” ही कहते हैं, इनका मानना है कि हमारी जनता गरीब है जीवन की समस्याओं से दुखी है और यही जनता हमारी मालिक भी है इनके सुख दुख में साथ रहना ही हमारी जिम्मेवारी है।

Source: DBN News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here