नई दिल्‍ली, एएनआइ। तब्‍लीगी जमात से ताल्‍लुक रखने वाले 960 विदेशियों के खिलाफ केंद्र सरकार ने बड़ी कार्रवाई की है। उक्‍त सभी विदेशियों को ब्लैक लिस्ट कर दिया गया है। इन पर यह कार्रवाई विदेशी कानून 1946 (Foreigners Act 1946) एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 (Disaster Management Act 2005) के प्रावधानों को तोड़ने के आरोप में की गई है। केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पर्यटक वीजा पर तब्लीगी गतिविधियों में लिप्‍त पाए जाने के कारण 960 विदेशियों को ब्लैक लिस्ट कर दिया गया है। इन सभी का भारतीय वीजा भी रद कर दिया गया है

इतना ही नहीं केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से दिल्ली पुलिस और अन्य सम्बंधित राज्यों के पुलिस महानिदेशकों को भारत के कानून की धज्जियां उड़ाने वाले इन 960 विदेशियों के खिलाफ जरूरी कानूनी कार्यवाई करने के भी निर्देश दिए गए हैं। वीजा रद करने के साथ ही इनको काली सूची में डाले जाने से अब इनके लिए देश के दरवाजा हमेशा के लिए बंद हो गए हैं। इससे पहले गृह मंत्रालय की संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्‍तव ने बताया कि सरकार ने 9000 तब्लीगी जमात कार्यकर्ताओं और उनके संपर्कों की पहचान की है और उनको क्वारंटाइन में रखा है। इन 9000 लोगों में से 1306 विदेशी हैं जबकि बाकी भारतीय हैं

This image has an empty alt attribute; its file name is Ad-Template-1-1024x1021.png

गौरतलब है कि अब तक 400 तब्लीगियों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। इतना ही नहीं इनकी संख्या और बढ़ने की आशंका है। केंद्रीय गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पर्यटन वीजा पर भारत आने के बाद तब्लीगी गतिविधियों में शामिल होकर इन लोगों ने वीजा नियमों का उलंघन किया है और इस कारण उनका मौजूदा वीजा रद्द कर दिया गया है। इसके साथ ही इन लोगों ने कोरोना के संकट के दौरान बड़ी संख्या में एकजुट नहीं होने के निर्देशों का भी उल्लंघन किया है। इस कार्रवाई के बाद भविष्य में अब ये भारत में दाखिल नहीं हो सकेंगे

वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वीजा रद होने और काली सूची में डाले जाने के साथ ही इन पर कानूनी शिकंजा भी कस सकता है क्‍योंकि केंद्र सरकार ने दिल्ली पुलिस समेत सभी राज्यों के पुलिस महानिदेशकों को इनके खिलाफ विदेशी कानून और आपदा प्रबंधन कानून के प्रावधानों के तहत कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। इन कानूनों को तोड़ने के आरोप में अब इनको गिरफ्तार भी किया जा सकता है। बता दें कि देश में 328 नए केस के साथ कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़कर 1965 हो गई है। इनमें अकेले तब्‍लीग से जुड़े मरीजों की संख्या 400 है

This image has an empty alt attribute; its file name is 1680X10001_1-1024x609.jpg

स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने अपनी रोजाना प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि कई अन्य तब्लीगियों का टेस्ट किया जा रहा है। इन जांचों में कोरोना से ग्रसित तब्‍लीगियों की संख्या बढ़ सकती है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, अब तक तमिलनाडु में 173, राजस्थान में 11, अंडमान निकोबार में नौ, दिल्ली में 47, पुडुचेरी में दो, जम्मू-कश्मीर में 22, तेलंगाना में 33, आंध्रप्रदेश में 67 और असम में 16 लोग कोरोना से ग्रसित पाए गए हैं, जिनका संबंध तबलीगी जमात से है। देश में इस महामारी से अब तक 50 लोगों की जान जा चुकी है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here