पटना: आज टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और मशहूर फिनिशर महेंद्र सिंह धोनी की शादी की आठवी सालगिरह है. धोनी ने 4 जुलाई 2010 को साक्षी के साथ केवल कुछ ही खास दोस्तों और रिश्तेदारों की उपस्थिति में शादी की. शादी से पहले ही दोनों काफी समय पहले से ही मिलते रहे थे. उनकी प्रेम कहानी के बारे में काफी कुछ तो लोग पहले से ही जानते हैं. जानिए उनके बारे में 8 खास बातें

धोनी और साक्षी झारखंड के रांची केएक ही स्कूल डीएवी श्यामली स्कूल में पढ़ाई करते थे. लेकिन कुछ समय बाद साक्षी का परिवार रांची शहर छोड़कर उत्तराखंड के देहरादून में बस गया. देहरादून में साक्षी के दादा वन विभाग में रिटायर्ड ऑफिसर थे. साक्षी ने देहरादून में पढ़ाई करने के बाद औरंगाबाद से इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट का कोर्स किया और ट्रेनिंग के लिए कोलकाता गईं. जहां उन्होंने यहां के ताज बंगाल होटल में ट्रेनिंग की. संयोग से उसी होटल में टीम इंडिया भी ठहरी थी. तब कोलकाता में भारत-पाकिस्तान का मैच होना था. यहीं दोनों की पहली मुलाकात भी हुई थी.

होटल में एक बार धोनी का अपने कमरे का की-कार्ड खो गया था जिसके बाद वे वहीं पर इंटर्नशिप कर रहीं साक्षी के मदद के लिए गए थे. तब साक्षी उन्हें पहचान नहीं पाईं थीं और उनकी डिटेल्स चेक करने के लिए उन्होंने धोनी से  उनका नाम पूछ लिया था. इसके बाद साक्षी ने उनसे उनका रूम नंबर और फिर उनका आई कार्ड मांगा, लेकिन धोनी के पास उस सयम आई कार्ड नहीं था. इस पर जब साक्षी ने उन्हें बिना आईडी कार्ड दिखाए हेल्प करने से मना किया तब में धोनी के कहने पर साक्षी उनके साथ उनके रूम तक गईं और वे धोनी का आईकार्ड देखा. यही उनकी कोलकाता में पहली मुलाकात थी. इसके बाद जब होटल के स्टाफ ने साक्षी को बताया की धोनी कौन हैं तब साक्षी धोनी को सॉरी कहने के लिए एक बुके लेकर उनके कमरे तक गईं और उन्हें सॉरी कहा. धोनी को यह बात बहुत पसंद आई कि साक्षी ने अपने काम को ज्यादा महत्व दिया.

कोलकाता में दोनों की औपचारिक मुलाकात उनके कॉमन फ्रेंड युद्धजीत दत्ता ने कराई थी. इसके बाद  युद्धजीत से धोनी ने साक्षी का मोबाइल नंबर लिया और बातचीत आगे बढ़ाने के लिए सबसे पहले धोनी ने ही मैसेज किया. साक्षी को भरोसा नहीं हुआ कि भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान होने के बावजूद सबसे पहले इंट्रेस्ट उनकी तरफ से दिखा और मैसेज किया. दोनों की प्रेम कहानी की शुरूआत यहीं से हुई और दोनों ही 4 जुलाई 2010 को जीवनसाथी बन गए.

माही की जिंदगी में साक्षी का क्या स्थान है यह माही ने एक बार खुद बताया है. उन्होंने कहा था, ‘साक्षी मेरी जिंदगी का स्पार्क हैं. जब मेरा खराब दिन होता है तो ये सोचकर अच्छा लगता है कि कोई है जो मेरा इंतजार कर रहा है और वो इंसान मुझे किसी बात को लेकर जज नहीं करेगा.’

धोनी एक समय में अपने हेयर स्टाइल को लेकर काफी चर्चा में रहे थे. उनकी हेयरस्टाइल उनके फैंस को भी पसंद थी. लेकिन साक्षी को उनकी स्टाइल कभी उन्हें अच्छी नहीं लगती. धोनी ने एक इंटरव्यू में बताया कि साक्षी कहतीं हैं कि अगर पहले उन्होंने माही को लंबे बालों में देखा होता तो वे उनसे कभी शादी नहीं करतीं.

2015 वर्ल्ड कप की तैयारियों के लिए भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया में थी. उसी दौरान साक्षी ने जिवा को जन्म दिया था. धोनी टीम मीटिंग में थे और अपना फोन नहीं देख रहे थे. तब साक्षी ने सुरेश रैना को मेसेज किया था और उनसे कहा था कि माही पिता बन गए हैं, उनसे कहिए कि फोन उठाएं

महेंद्र सिंह धोनी पर बनी बोयोपिक में धोनी की एक और प्रेम कहानी के बारे में बताया गया है. इसके मुताबिक माही की इस प्रेमिका की एक कार दुर्घटना में मौत हो जाती है. इसके बाद माही काफी अकेले हो गए थे फिर उन्हें साक्षी का साथ मिला.

Source: Zee News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here