बाढ़ NTPC से 660 मेगावाट बिजली का उत्‍पादन शुरू, बिहार का हर घर होगा रोशन

खबरें बिहार की

Patna: बिहार वासियों के लिए बड़ी खुशखबरी है. बाढ़ NTPC की तीसरी यूनिट से बिजली का उत्‍पादन शुरू हो गया है. इस यूनिट की क्षमता 660 मेगावाट की है. इनमें से 401 मेगावाट बिजली बिहार को मुहैया कराई जाएगी. इससे बिहार में हर घर बिजली अभियान को भी बल मिलेगा. प्रदेश सरकार ने खेतों तक सिंचाई सुविधा मुहैया कारने की घोषणा की है. इसके लिए जगह-जगह बिजली आधारित ट्यूबवेल लगाए जा रहे हैं. ऐसे में एनटीपीसी की बाढ़ इकाई से बिजली मिलने पर इस मुहिम में और तेजी आएगी. एनटीपीसी की तीसरी यूनिट से बिजली उत्‍पादन का लंबे समय से इंतजार था, जो अब जाकर पूरा हुआ है.

NTPC के प्रवक्‍ता विश्‍वनाथ चंदन ने यह जानकारी दी है. उन्‍होंने बताया कि बाढ़ एनटीपीसी की 660 मेगावट क्षमता वाली तीसरी इकाई से बिजली का कमर्शियल उत्‍पादन शुरू हो गया है. इनमें से 401 मेगावाट बिजली बिहार को उपलब्‍ध कराया जा रहा है. एनटीपीसी की बाढ़ यूनिट के स्टेज दो की 1320 मेगावाट क्ष्‍मता वाली दो यूनिटों से बिहार को पहले ही 1198 मेगावाट बिजली मिल रही है. ऐसे में 401 मेगावाट बिजली और मिलने से प्रदेश में औद्योगिक गति‍विधियों को भी बल मिलेगा.

 

बाढ़ एनटीपीसी स्टेज-1 की पहली यूनिट को 30 अक्टूबर को 72 घंटे तक लगातार ऑपरेट किया गया था. केंद्रीय विद्युत विनियामक आयोग की शर्तों को पूरा करते हुए बिजली घर ने क्षमता से अधिक बिजली उत्पादन किया. इसके बाद ही इसे बिजली बेचने की अनुमति मिली. उसी क्रम में गुरुवार की रात 12 बजे से इस यूनिट से वाणिज्यक उत्पादन शुरू हो गया. निर्धारित कोटा के अनुसार, बिहार को इस यूनिट से 401 मेगावाट बिजली मिलने लगी.

इस यूनिट की स्टेज -दो में 660 मेगावाट की दो और इकाई निर्माणाधीन है. एक साल के भीतर इन दोनों यूनिटों से बिजली का उत्पादन शुरू करने का लक्ष्य है. बाढ़ स्टेज-दो की 660 मेगावाट की दो इकाइयों से बिहार को 90 प्रतिशत तो स्टेज-एक की 660 मेगावाट की तीनों इकाइयों से 60 फीसदी से अधिक बिजली बिहार को आवंटित है. शेष बिजली झारखंड, ओडिशा और सिक्‍किम को मुहैया कराई जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.