500 रुपये में बेच दी गई थी मानसिक रूप से कमजोर युवती, नहीं बता पा रही ज्यादती की कहानी, एक गिरफ्तार

खबरें बिहार की जानकारी

कदमकुआं पुलिस ने राजेंद्र नगर से अपहृत लड़की को किशनगंज से बरामद किया है। महज 500 रुपये के लिए लड़की का अपहरण कर उसे देह व्यापार में ढकेल दिया गया। अपहरण करने वाले आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी से पूछताछ के आधार पर पुलिस मानव तस्कर गिरोह को पकड़ने में जुट गई है।

आरोपी शाहजहां अहमद उर्फ जावेद उर्फ राहुल रामकृष्ण नगर थाना क्षेत्र के खेमनीचक मोहल्ले में रह रहा था। महज 500 रुपये के लिए जावेद ने युवती का अपहरण कर अपने साथी दीपक को सौंप दिया था। पीड़िता मानसिक रूप से बीमार बताई जा रही है। टाउन डीएसपी अशोक कुमार सिंह ने बताया कि पीड़िता ने उसके साथ गलत काम होने का संकेत दिया है, लेकिन वह कुछ भी खुल कर बोलने में असमर्थ है। फिलहाल, उसे अभिभावकों के पास रखा गया है। पीड़िता की मेडिकल जांच कराई जाएगी।

हमदर्दी जताकर लड़कियों को अपने जाल में फंसाते थे तस्कर

अब पुलिस मानव तस्कर गिरोह को पकड़ने में जुट गई है। पुलिस के हत्थे चढ़ा आरोपी जावेद ने बताया कि उसका गिरोह भोली-भाली लड़कियों से दोस्ती करता था। फिर उन्हें बहला-फुसलाकर बस अड्डे पर ले जाता और वहां लड़की अपने साथी दीपक को सौंप देता। दीपक वहां से लड़की को किशनगंज ले जाता और सोनू को सौंप देता। जावेद ने बताया कि वे लोग मानसिक रूप से कमजोर लड़कियों के साथ परिवार से नाराज लड़कियों को अपने जाल में फंसाते थे। लड़कियों से हमदर्दी और प्यार जता कर दूसरे जिलों में बेच देते। सोनू किशनगंज में देह व्यापार करवाता है। पुलिस अब जांच में जुट गई है कि जावेद ने कितनी लड़कियों का अपहरण कर देह व्यापार के दलदल में धकेला है। पुलिस जावेद को रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी।

23 दिन पहले युवती का हुआ था अपहरण

बता दें कि 23 दिन पहले पूरी रात युवती के घर नहीं लौटने पर परिजनों ने गुमशुदगी की शिकायत दी। युवती के नहीं मिलने पर परिजनों ने अपहरण का केस दर्ज करवाया। युवती के परिजन को घर के मोबाइल में एक अनजान नंबर मिला। जिसपर कई बार बातें हुई थीं। परिजनों ने उक्त नंबर पर कॉल लगाया तो जावेद ने उठाया और उसने गाली देकर फोन काट दिया। जिसके बाद परिजन पुलिस के पास पहुंचे और अपहरण का केस दर्ज करवाया।

मोबाइल नंबर से आरोपी तक पहुंची पुलिस

परिजनों की शिकायत पर थानाध्यक्ष विमलेंदु कुमार ने टीम गठित कर मामले की जांच शुरू कर दी। पुलिस मोबाइल नंबर के आधार पर जावेद तक पहुंची और उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी जावेद मूलरूप से नालंदा जिले के इस्लामपुर थानांतर्गत बूढ़ानगर का रहने वाला है। पुलिस के कहने पर उसने अपने साथी सोनू को कॉल किया लेकिन उसे शक हो गया। जिसके बाद सोनू युवती को किशनगंज बस अड्डे के पास छोड़ गया, जहां से पुलिस ने अपहृत युवती को बरामद किया। जावेद के मुताबिक, दीपक ने 20 हजार में युवती को सोनू के हाथ बेचा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.