कोरोना वैक्सीन के लिए पटना पहुंची 5 लाख सिरिंज, जानिये किसे कहां लगेगा टीका

खबरें बिहार की

पटना: अगले 10 दिनों में बिहार में भी वैक्सीन लगाने का कार्यक्रम शुरू हो सकता है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने मंगलवार को इसे स्पष्ट कर दिया है. ऐसे में बिहार और पटना में भी इसको लेकर तैयारियां तेज हो गयी हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक पटना जिला प्रशासन के निर्देश पर सिविल सर्जन कार्यालय ने वैक्सीन लगाने को लेकर सारी तैयारियां पूरी कर ली हैं. जैसे ही वैक्सीन आयेगी, इसे लगाने का कार्यक्रम शुरू कर दिया जायेगा.

मंगलवार को पटना की सिविल सर्जन ने स्पष्ट कर दिया कि वैक्सीन लगाने के लिए डॉक्टरों-स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंट लाइन कर्मियों को अलग से कोई रजिस्ट्रेशन करवाने की जरूरत नहीं है.

सिविल सर्जन कार्यालय इनका डाटा एकत्र कर चुका है. कुछ नाम बाकी हैं, जिन्हें अगले कुछ दिनों में शामिल कर लिया जायेगा. उनका डाटा को-विन वैक्सीन डिलिवरी मैनजमेंट सिस्टम पोर्टल पर फीड किया जा चुका है.

वैक्सीन आते ही इन्हें लगाना शुरू कर दिया जायेगा. वैक्सीन आने के बाद पहले चरण के पहले राउंड में डॉक्टरों-स्वास्थ्यकर्मियों को इसकी डोज देनी है. इसके लिए कुल 33 हजार से ज्यादा रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं.

इनमें 20 हजार से ज्यादा सरकारी और 13 हजार से ज्यादा निजी अस्पतालों के डॉक्टर-स्वास्थ्यकर्मी शामिल हैं. दूसरे राउंड में फ्रंट लाइन कर्मियों को वैक्सीन लगायी जायेगी. इसमें पुलिसकर्मी, नगर निगम के कर्मी समेत विभिन्न सरकारी विभागों के कर्मी शामिल हैं.

कौन-सी वैक्सीन लगेगी यह अभी स्पष्ट नहीं : ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने आइसीएमआर- भारत बायोटेक की कोवैक्सीन और ऑक्सफोर्ड – सीरम इंस्टीट्यूट की कोवीशील्ड वैक्सीन के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है.

कोवैक्सीन स्वदेशी वैक्सीन है, इसका ट्रायल अभी तीसरे चरण में चल रहा है, इसके इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी गयी है. हालांकि अभी स्पष्ट नहीं है कि कौन-सी वैक्सीन कहां और कब से लगायी जायेगी. माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में स्थितियां स्पष्ट हो जायेंगी.

इधर पटना में कोरोना की वैक्सीन लाने की कवायद तेज कर दी है. इसी कड़ी में मंगलवार को करीब पांच लाख से अधिक सीरिंज पटना लाया गया है. सभी सीरिंज को स्वास्थ्य विभाग व सिविल सर्जन के देखरेख में सुरक्षित रखा गया है.

बताया जा रहा है कि सीरिंज आने के बाद अब जल्द ही कोरोना की वैक्सीन भी पटना आ जायेगी. जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ विनायक ने बताया कि पहले चरण में पटना जिले में सभी डॉक्टर व स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया जायेगा. जिसकी योजना बना दी गयी है.

टीकारण के लिए ग्रामीण क्षेत्रों के निजी और सरकारी स्वास्थ्य कर्मियों हेल्थ वर्कर और पारा मेडिकल स्टाफ को वहां के ब्लॉक में स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में टीका दिया जायेगा. इसके लिए टीका कोल्ड चेन में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचेगा.

टीकाकरण सही तरीके से चले इसके लिए कार्य योजना बनायी जा रही है. सेंटर भी चिह्नित कर लिये गये हैं. डॉ विनायक ने बताया कि पांच लाख और सीरिंज बुधवार तक पटना पहुंचेंगे.

Source: Prabhat Khabar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *