लॉकडाउन के इस समय में हर घर में सुबह 9:00 बजे और रात 9:00 बजे रामानंद सागर निर्मित ‘रामायण’ का जादू छाया रहता है। अब भगवान राम के इस आकर्षण का फायदा उठाने की तैयारी बाॅलीवुड ने भी शुरू कर दी है। ‘रामायण’ नाम से ही दंगल फेम डायरेक्टर नितेश तिवारी प्रोड्यूसर मधु मंतेना के साथ मिलकर फिल्म बनाने वाले हैं। इसमें नितेश की भूमिका निर्देशक की होगी। इस फिल्म के बारे में अपुष्ट खबरें तो बहुत पहले से ही तैरती रही हैं, पर अब खुद नितेश ने \इस बड़े प्रोजेक्ट के डिटेल्स शेयर किए हैं और यह चर्चा भी उन्होंने रामनवमी के ही दिन की।

पढ़िए नितेश तिवारी ने इस बहुप्रतीक्षित प्रोजेक्ट के बारे में क्या कहा-

हमारे इस बड़े प्रोजेक्ट ‘रामायण’ के बारे में सबसे पहले तो मैं चर्चा करता हूं इसकी लागत की। इसका कुल बजट 400 करोड़ से ज्यादा रहेगा। इसमें वीएफएक्स और विजुअल इफेक्ट बहुत ही विशेष होने तो इस चीज पर हमारा काफी खर्चा होगा। रामायण के कई वर्जन हैं। कइयों में रावण को निरे पापी के तौर पर पेश नहीं किया गया है, तो कइयों में सीता के नजरिए से अलग तरह की कहानी है। हमने अब तक 300 से भी ज्यादा वर्जंस का अध्ययन किया है। हमारे रायटर्स पिछले तीन सालों से इस पर रिसर्च कर रहे हैं। बहरहाल, बुनियाद हमारी वाल्मीकि रामायण रहने वाली है। हां, रामायण के बाकी वर्जन में भी ढेर सारी ग्रेट चीजें हैं। उन्हें भी हम इनकॉरपोरेट कर रहे हैं। हां इतना तो तय है कि इस प्रोजेक्ट में वाल्मीकि रामायण से ज्यादा डेविएशन नहीं होगा।

वाल्मीकि रामायण पर बेस्ड होगी स्क्रिप्ट
हमारे इस प्रोजेक्ट की राइटिंग टीम की कमान श्रीधर राघवन के जिम्मे है। वो तीन सालों से इसे लिख रहे हैं। उनके पास ढेर सारी किताबी हैं। मैंने उनके द्वारा सजेस्ट किए कंटेंट काफी पढ़ लिए हैं। कितनी िक्रएटिव लिबर्टी लेनी है, वह पता करने के लिए मैंने वाल्मीकि रामायण के अलावा बाकी वर्जंस भी पढ़े हैं। उस फेहरिस्त में देवदत्त पटनायक से लेकर चित्रा बनर्जी की फॉरेस्ट ऑफ इनचैंटमेंट तक शामिल है। काफी फॉरेनर्स ने भी कमाल के वर्जंस लिखे हैं। जापानी वर्जन ‘लेजेंड ऑफ प्रिंस ऑफ रामा’ यूट्यूब पर है। उनके राक्षस अलग हैं। उम्मीद कर रहे हैं कि हमारा वर्जन भी लोगों को पसंद आए। अगर हम ‘फॉरेस्ट ऑफ इनचैंटमेंट’ पढ़ेंगे तो वह सीता के नजरिए से है। ‘असुरा’ पढ़ें तो रावण का वर्जन है। हमारी मोरल रिस्पॉन्सिपब्लिटी है कि वह वर्जन दर्शकों को दिखाया जाए कि जो सबको स्वीकार्य हो।

कैसे होंगे विजुअल्स
‘रामायण’ एक मैजिकल गाथा है। इसमें आकार बदलने वाले राक्षस हैं। ऐसे तीर बाण हैं, जो शेप बदलते हैं। श्राप की भी अपनी एक शक्ल है। इन सबको देखते हुए हमारी यह फिल्म विजुअली बड़ी स्पेक्टल वाली साबित होगी। इसमें वीएफएक्स और विजुअल इफेक्ट स्पेशल देना होगा तो इस पर खूब खर्चा होगा। इसकी शूटिंग साल के दूसरे हाफ से शुरू होनी थी पर मौजूदा हालात को देखते हुए इसमें देरी संभव है।


ये होगी कास्टिंग
इस प्रोजेक्ट से जुड़े अंदरुनी सूत्रों और बॉलीवुड ट्रेड से जुड़े एक्सपर्ट्स से हमें पुख्ता जानकारी मिली है कि ऋतिक-दीपिका को इसमें राम-सीता के तौर पर कास्टिंग के लिए अप्रोच किया गया है। नितेश तिवारी से हमने इस बारे में कंफर्म खबर बताने के लिए कहा तो उनका जबाब था कि इस बारे में निर्माताओं की ओर से ही अनाउंसमेंट की जाएगी। अभी मैं इस पर कुछ नहीं कहूंगा।

Sources:-Dainik Bhasakar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here