जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद की बदली परिस्थितियों का आकलन करने के लिए यूरोपियन यूनियन ( EU ) के सांसदों का एक प्रतिनिधिमंडल घाटी का दौरा करेगा। दौरे से पहले ईयू के प्रतिनिधिमंडल में शामिल 28 सांसदों ने नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से मुलाकात की।

मुलाकात के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने सांसदों को कश्मीर में हो रहे विकास कार्यों से अवगत कराया। डोभाल ने कश्मीर और आतंकवाद के मुद्दे पर सांसदों के साथ बातचीत की और उन्‍हें स्थितियों के बारे में जानकारी दी।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद पहली बार कोई अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडल जम्मू-कश्मीर का दौरा कर रहा है। मोदी सरकार ने इसी साल पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटा दिया था।

जम्‍मू-कश्‍मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांट दिया था।केंद्र सरकार ने फैसले के विरोध में होने वाले प्रदर्शनों को देखते हुए जम्मू-कश्मीर में कड़े प्रतिबंध लागू किए थे।

जम्मू से कुछ दिनों बाद ही इन प्रतिबंधों को हटा लिया गया। वहीं कश्मीर में धीरे-धीरे ज्यादातर इलाकों से प्रतिबंध हटा लिए गए। साथ ही घाटी में पिछले दिनों प्रीपेड मोबाइल सेवा पुन: बहाल किया गया था। हालांकि मैसेज और इंटरनेट सेवा पर अब भी प्रतिबंध है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here