355वां प्रकाश पर्व: सभी आयोजन रद्द, सांकेतिक रूप से केवल धार्मिक कार्यक्रम होंगे

खबरें बिहार की जानकारी

पटना में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले और लॉकडाउन का अनुपालन करने के उद्देश्य से दशमेश पिता श्री गुरुगोविंद सिंहजी के 355वें प्रकाश पर्व पर होने वाले आयोजनों को रद्द कर दिया गया है। बुधवार को तख्तश्री हरिमंदिरजी प्रबंधक कमेटी के पदाधिकारियों की अहम बैठक हुई। जिसमें सभी आयोजनों को रद्द करने का निर्णय लिया गया। साथ ही प्रकाश पर्व में शामिल होने पटना साहिब आ रहे श्रद्धालुओं से अपनी यात्रा रद्द करने का अनुरोध किया गया है। दरबार साहिब में सांकेतिक तौर पर केवल धार्मिक कार्यक्रम होगा।

कमेटी के अध्यक्ष सरदार अवतार सिंह हित, तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी रंजीत सिंह गौहर ए मस्कीन व महासचिव इंद्रजीत सिंह ने बताया कि बढ़ते संक्रमण को देखते हुए दुनियाभर से आने वाली संगत से अपील की गयी है कि वे अपनी यात्रा रद्द कर दें। जो रास्ते में हैं वे भी यथासंभव लौट जाएं। बुधवार तक गुरुघर में करीब दस हजार संगत पहुंच चुकी है, उनसे भी गुरुघर में मत्था टेककर वापस लौट जाने का अनुरोध किया गया है। कहा कि सभी धार्मिक आयोजनों को सोशल मीडिया के जरिए देखा जा सकेगा।

 

 

वहीं, गुरुघर के बाहर सभी जगहों के लंगर को भी स्थगित कर दिया गया है। इसी क्रम में गुरुवार को निकलने वाली प्रभातफेरी और शुक्रवार को बड़ी प्रभातफेरी को भी स्थगित कर दिया गया है। आठ जनवरी को गायघाट गुरुद्वारा से सांकेतिक रूप से नगर कीर्तन निकाली जाएगी। जिसमें पंच प्यारों समेत अधिकतम पचास लोग शिरकत करेंगे। एसडीओ मुकेश रंजन व डीएसपी अमित शरण ने कहा कि सामाजिक दूरी का पालन करते हुए धार्मिक आयोजनों को किया जाएगा। नगर कीर्तन में भीड़ न लगे, इसके लिए पुलिस बल व स्कॉर्ट पार्टी की व्यवस्था रहेगी। बैठक में वरीय उपाध्यक्ष जगजोत सिंह सोही, सदस्य गुरविंदर सिंह, बाललीला के संत बाबा सुखा सिंह, गुरुविंदर सिंह, सुमित सिंह कलशी, सूरज सिंह नलवा समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.