लद्दाख के सांसद इन दिनों खूब चर्चा में हैं। संसद में 370 पर दिए भाषण के बाद वो पूरे देश में हिट होगए।

34 साल के सांसद जामयांग सेरिंग नामग्याल देश के सबसे बड़ी लोकसभा सीट लद्दाख से चुनकर पहली बार संसद पहुंचे हैं। वे एक मिडिल क्लास फैमिली से आते हैं। पिता मिलिट्री इंजीनियरिंग सर्विस में कारपेंटर का काम करते थे और उनकी मां ईशे पुतित हाउसवाइफ थीं।

साल 2012 में जामयांग सेरिंग नामग्याल बीजेपी से जुड़े थे। उन्होंने केयरटेकर के तौर पर बीजेपी कार्यलय ज्वाइन किया था। जो लोग पढ़ लिख नहीं पाते थे, तो वह उन लोगों के लिए चिट्ठियां लिखा करते थे। 2014 के आम चुनावों में उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी थूपस्तान चवांग के लिए चुनाव प्रचार किया। दौरान वे पार्टी के आलकमान की नजरों में आए। इस चुनाव में चवांग 36 वोटों से जीते थे। पार्टी ने 2019 में नामग्याल को लोकसभा चुनाव का लद्दाख से प्रत्याशी बनाया था। इस चुनाव में उन्होंने रिकॉर्ड मतो से जीत दर्ज की थी। उन्हें कविता लिखने का भी शौक है। उनका एक कविता संग्रह भी प्रकाशित हो चुका है।

नामग्याल संदन में 370 पर स्पीच के बाद काफी चर्चा में आए हैं। उन्होंने अपनी स्पीच में कांग्रेस पर धारा 370 को लेकर नि’शाना सा’धा था। स्पीच के बाद उन्हें सोशल मीडिया पर काफी सराहना मिली थी। उनके पास लगातार फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट आने लगी। जिसके बाद उन्होंने फेसबुक पर लोगों से अपील करते हुए लिखा- ‘दो दिनों में उन्होंने बहुत लोगों की फ्रेंड रिक्वेस्ट एक्सपेट की है। अब फ्रेंडलिस्ट भर जाने के बाद वे उन्हें एड नहीं कर पाएंगे।

पीएम मोदी ने उनकी स्पीच की तारीफ में ट्वीट करते हुए कहा- मेरे युवा मित्र ने J & K के प्रमुख विधेयकों पर चर्चा करते हुए लोकसभा में एक उत्कृष्ट भाषण दिया। वह लद्दाख से हमारी बहनों और भाइयों की बातों को सही तरीके से साझा करता है। उनके इस भाषण को सुनना चाहिए।

Sources:-Live New

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here