26 november terrorist attack

आज भी जेहन में है 26/11 मुंबई आतंकी हमले का खौफ, भारत की गिरफ्त से बाहर हैं 3 सबसे बड़े साजिशकर्ता

अंतर्राष्‍ट्रीय खबरें

देश के इतिहास में 26/11 मुंबई हमला सबसे भयावह आतंकी हमला था जिसने सभी की रूह को कंपा दिया था। लश्करे-तैएबा के 10 आतंकवादियों ने समुद्री रास्ते से मुंबई में प्रवेश कर आर्थिक राजधानी को खून से रंग दिया था। 166 लोगों की जाने लेने वाले इस आतंकी हमले में 9 आतंकवादी मौके पर मारे गए थे। सिर्फ एक जिंदा पकड़ा गया था जिसका नाम था अजमल कसाब।

पुणे की यरवडा जेल में 21 नवंबर 2012 को उसे भी फांसी पर लटका दिया गया। लेकिन इस हमले के मुख्य साजिशकर्ता (हाफिज सईद, डेविड हेडली और जकी-उर-रहमान लखवी) अभी भी भारत की गिरफ्त से बाहर हैं जो इन आतंकियों को पाकिस्तान से निर्देश दे रहे थे। हालांकि एक अन्य आतंकी व षड्यंत्रकारी अबु जुंदाल को भारत अपनी गिरफ्त में लेने में कामयाब रहा है। यहां जानते हैं इन हमले को अंजाम देने में आतंकियों के इन आकाओं की क्या भूमिका रही और अब ये कहां हैं –

हाफिज सईद

मुंबई हमले का मास्टरमाइंड और आतंकी संगठन जमात-उद-दावा (जेयूडी) प्रमुख हाफिज सईद आज पाकिस्तान में आजाद घूम रहा है। हाफिज सईद लगातार कराची से मंबई में बैठे आतंकवादियों को निर्देश दे रहा था। सईद भारत की सर्वाधिक वांछित अपराधियों की सूची में शामिल है। अमेरिका ने चार बड़े चरमपंथियों पर एक करोड़ डॉलर का इनाम रखा है।

लश्कर-ए-तैयबा का संस्थापक हाफिज मोहम्मद सईद उन चार आतंकवादियों में से एक है जिन पर अमेरिका ने एक करोड़ डॉलर के इनाम की घोषणा की है। भारत लगातार पाकिस्तान से हाफिज को सौंपने को कहता रहा है।

26 november terrorist attack

जकी-उर-रहमान लखवी

मुंबई हमले का मास्टरमाइंड और आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर जकी-उर-रहमान लखवी आज भी पाकिस्तान में बेखौफ घूम रहा है। लखवी का नाम NIA की मोस्ट वांटेड लिस्ट में है। 26/11 मुंबई हमले में जिंदा पकड़ा गया आतंकी कसाब ने खुलासा किया था कि लखवी ने उसे और बाकी हमलावरों के मुंबई हमले के लिए उकसाया था।

लखवी को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI और पाकिस्तानी सेना की सरपरस्ती हासिल है। चौतरफा दबाव में पाकिस्तान ने लखवी को गिरफ्तार भी किया था लेकिन अप्रैल 2015 में उसे जमानत मिल गई।

डेविड हेडली

डेविड हेडली पाकिस्तानी मूल का अमेरिकी आतंकी है। ये भी 26/11 की साज़िश रचने वालों में से एक है। लश्कर-ए-तैयबा के अंडरकवर एजेंट के तौर पर काम कर रहा था। हेडली ने मुंबई हमले के लिए विस्तार से जानकारियां जुटाईं। पाकिस्तान में लश्कर के ट्रेनिंग कैंप में हिस्सा लिया। भारत आकर हमले के ठिकानों की रेकी की।

सितंबर 2006 से जुलाई 2008 के बीच पांच बार भारत आया। हमले की ठिकानों की तस्वीरें लीं और पाकिस्तान जाकर चर्चा की। हेडली को 24 जनवरी 2013 को अमेरिका की संघीय अदालत ने दोषी करार दिया था। मुंबई हमले में भूमिका के लिए 35 साल की जेल हुई। हेडली अमेरिका में जेल में बंद है।

अबु जुंदाल

2008 के मुंबई हमलों के साजिशकर्ताओं में से एक सैयद ज़बीउद्दीन उर्फ़ अबु जुंदाल भारतीय नागरिक है। वह इंडियन मुजाहिदीन और लश्कर-ए-तैयबा से जुड़ा आतंकी है। वह पाकिस्तान के कराची शहर से 10 हमलावर आतंकियों को निर्देश दे रहा था। उसी ने आतंकियों को हिंदी भी सिखाई। 25 जून 2012 को प्रत्यर्पण के जरिए उसे सऊदी अरब से भारत लाया गया है।

जुंदाल अभी भारत की जेल में बंद है। अगस्त 2016 में मुंबई की स्पेशल मकोका कोर्ट ने 2006 के औरंगबाद हथियार मामले में अबु जुंदाल को उम्र कैद की सजा सुनाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.