25 जून तक कैसे पूरा होगा आवासों का निर्माण! इस वजह से दो लाख लाभार्थियों का रुका 800 करोड़ का भुगतान

जानकारी

बिहार में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के लाभुकों का भुगतान अभी रुका है। केंद्र से राशि नहीं मिलने के कारण भुगतान ठप है। इसको लेकर ग्रामीण विकास विभाग केंद्र से जल्द राशि जारी करने का आग्रह किया है, ताकि भुगतान का कार्य शुरू किया जा सके। मिली जानकारी के अनुसार दो लाख लाभुकों का 800 करोड़ का भुगतान लंबित है। हालांकि विभागीय पदाधिकारी यह भी बताते हैं कि आवास निर्माण का कार्य जारी है। दो-तीन दिनों में राशि आने की उम्मीद है। राशि भुगतान की सारी प्रक्रिया पूरी कर ली गई है।

केंद्र से राशि मिलते ही लाभुकों के खाते में तत्काल भुगतान कर दिया जाएगा। मालूम हो कि केंद्र से 2500 करोड़ की दूसरी किस्त मिलनी है। वहीं, 40 प्रतिशत हिस्सा राज्य सरकार देगी। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए स्वीकृत आवासों के निर्माण कार्य में तेजी लाने का निर्देश सभी जिलों के उप विकास आयुक्तों (डीडीसी) को दिया गया है।

डीडीसी को सख्त निर्देश है कि 25 जून तक इस योजना के सात लाख आवासों का निर्माण पूरा कराना है। इसी के अंतर्गत पहली किस्त प्राप्त जिन लाभुकों के आवास के नींव का काम पूरा हो गया है, उन्हें 31 मई तक दूसरी किस्त का भी भुगतान करना था। पर, पिछले करीब दस दिनों से भुगतान का कार्य रुका हुआ है। पीएम आवास ग्रामीण योजना में चयनित लाभुकों को पहली किस्त की राशि आवास की मंजूरी मिल जाने के बाद तुरंत की जाती है। इसके बाद दूसरी किस्त उस समय मिलती है, जब उनके घर का आधार एवं नींव रख दी जाती है। तीसरी एवं आखिरी किस्त खिड़की एवं दरवाजे,  छत का काम पूरा होने के बाद दिये जाते हैं।

121 डिफॉल्टरों से होगी वसूली

वैशाली के पातेपुर प्रखंड क्षेत्र के प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत प्रकंड के 19 पंचायत के करीब 121 डिफॉल्टर लाभुकों पर नीलाम वाद दायर करने को लेकर पातेपुर बीडीओ ने निकाला नीलामी पत्र। ऐसे लाभुकों पर कार्रवाई की जाएगी। इनसे राशि की वसूली होगी। मिली जानकारी के अनुसार पातेपुर प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न पंचायत क्षेत्रों में आवास कार्य का निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं कराने पर पातेपुर बीडीओ मनोज कुमार राय ने नीलाम पत्र निर्गत किया है।

आदेशित पत्र में कहा गया है कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के वित्तीय वर्ष 2016-17 से 20-2020  तक वैसे लाभुक जिन्हें प्रथम किस्त की राशि दे दी गई, परंतु आवास का निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं कराया गया। वैसे 19 पंचायत के 121 लाभुकों की सूची जारी की गई है। बीडीओ द्वारा जारी डिफॉल्टर लाभुकों की सूची में बकाढ़, टेकनाड़ी, मंडईडीह, बहुआरा, मरूई, बेला, दरगाह, राघोपुर नरसंडा, अजीजपुर चांदे, मालपुर डभैच्छ, तिसीऔता, बलिगांव, अग्रैल खुर्द, डेधुआ, हरलोचनपुर सुक्की सिमारवाड़ा, निलोरूकांदपुर, नीरपुर है। सबसे अधिक बकाढ़ पंचायत में 16 लाभुक ऐसे हैं, जिन्होंने राशि ली और निर्माण नहीं करवाया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.