आंध्र प्रदेश के चित्‍तूर जिले में स्थित भगवान वेंकटेश्‍वर (विष्‍णु) के तिरुपति मंदिर में भक्‍तों की भीड़ कम होने का नाम नहीं ले रही है. मंदिर में पिछले करीब एक हफ्ते से रोजाना हजारों की संख्‍या में श्रद्धालु भगवान के दर्शन के पहुंच रहे हैं. कल यानी 15 अगस्‍त को यहां 82,609 भक्‍तों ने भगवान के दर्शन किए. साथ ही गुरुवार को मंदिर को चढ़ावे के रूप में कुल 3.02 करोड़ रुपये मिले.

गुरुवार को भी तिरुपति मंदिर में बड़ी संख्‍या में भक्‍तों के पहुंचने से दर्शन के लिए लंबी लाइन लग गई. हालात यह हैं कि सर्वदर्शन का औसत समय 24 घंटे का हो गया है. मतलब दर्शन के लिए लगने वाली निशुल्‍क लाइन में लगकर भक्‍तों को 24 घंटे बाद ही दर्शन मिल पा रहे हैं. साथ ही मंदिर में दर्शन को जाने वाले सभी कंपार्टमेंट फुल हो गए हैं. भक्‍तों को क्‍यू कॉम्‍प्‍लेक्‍स के बाहर बड़ी संख्‍या में इंतजार करना पड़ रहा है.

बता दें कि पिछले एक हफ्ते से भी अधिक समय से तिरुमला तिरुपति मंदिर में हजारों की संख्‍या में भक्‍त दर्शन के लिए पहुंच रहे हैं. इस दौरान भक्‍तों की दो से तीन किमी तक लंबी लाइन भी लगी. वहीं बुधवार को 78,667 श्रद्धालुओं ने दर्शन किए. बता दें कि प्रभु वेंकटेश्वर को भगवान विष्णु का अवतार माना जाता है. ऐसा माना जाता है कि प्रभु विष्णु ने कुछ समय के लिए स्वामी पुष्करणी नामक तालाब के किनारे निवास किया था.

बुधवार को तिरुपति बालाजी मंदिर में चढ़ावे के रूप में 4 करोड़ 35 लाख रुपये का आए थे. दरअसल, सार्वजनिक अवकाश के कारण मंदिर में भक्तों का तांता लगा हुआ है. मंदिर में रोज भक्तों की भीड़ बढ़ने की वजह से वीआईपी व्यक्ति का किसी अन्य के लिए अनुमोदन स्वीकार नहीं किया जा रहा है. दर्शन के लिए वीआईपी व्यक्ति को ही अनुमति दी जा रही है.

Sources:-Zee News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here