2024 में जुमलेबाजों से मुक्त होगा देश, BJP का आचरण हुआ उजागरः मणिपुर केस में भाजपा पर ललन सिंह का हमला

खबरें बिहार की जानकारी

भारतीय जनता पार्टी ने जेडीयू से बिहार का बदला मणिपुर में ले लिया है। नीतीश कुमार की पार्टी के 5 विधायकों को बीजेपी ने तोड़कर अपने साथ मिला लिया है। इस बड़े राजनीतिक फेरबदल से दोनों दलों के बीच तल्खी और बढ़ गई है। नीतीश कुमार के लिए यह बड़ा झटका है। इससे पहले अरुणाचल प्रदेश में बीजेपी ने जदयू के सभी छह विधायकों को अपनी पार्टी में मिला था।

जेडीयू विधायकों के बीजेपी में शामिल हो जाने  के बाद राज्यसभा सांसद और बिहार बीजेपी नेता सुशील मोदी ने कहा कि मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश जैसे राज्य “जेडीयू मुक्त” हो गए हैं।

इस पर  जेडीयू के नेता बीजेपी पर और हमलावर हो गए हैं। जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह ने भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी पर बड़ा हमला किया है। अपने ट्विटर अकाउंट पर ललन सिंह ने सुशील मोदी को संबोधित करते हुए भाजपा की नैतिकता और आचरण पर सवाल उठाए हैं।

ललन सिंह लिखते हैं-
सुशील जी, आपको स्मरण कराना चाहते हैं कि अरुणाचल और मणिपुर दोनों जगह जदयू ने भाजपा को हराकर सीटें जीती थी। इसलिए जदयू से मुक्ति का दिवास्पन्न मत देखिए। अरुणाचल में जो हुआ था वह आपके गठबंधन धर्म के पालन के कारण हुआ था। और मनिपुर में एक बार फिर भाजपा का नैतिक आचरण सबके सामने है। आपको याद होगा कि  2015 में प्रधानमंत्री जी ने 42 सभाएं की, तब जाकर 53 सीट ही जीत पाए थे। 2024 में देश जुमलेबाजों से मुक्त होगा……इंतजार कीजिए।

ललन सिंह ने सुशील मोदी पार्टी में फिर उपेक्षित बताया है। उन्होंने लिखा है-


आप इसी तरह अपने नेतृत्व में  जदयू को खत्म करने का दिवास्वप्न दिखाते रहिए। आपको कुछ न कुछ मिल जाएगा। आपको मेरी शुभकामनाएं।

बताते चलें कि भाजपा-जेडीयू के बीच चल रहे वाक युद्ध के बीच  जॉयकिशन, एन सनाटे, मोहम्मद अचब उद्दीन, पूर्व डीजीपी एल एम खौटे और थंगजाम अरुणकुमार मणिपुर में भाजपा में शामिल हो गए। खौटे और अरुणकुमार ने पहले भाजपा के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ने की मांग की थी, लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिला था। इसके बाद वे जेडीयू में शामिल हो गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.