पूर्व मंत्री तेज प्रताप ने ट्वीट में लिखा, ”…टूटे से फिर ना जुटे, जुटे गांठ परि जाये..” तेजप्रताप ने तलाक की अर्जी के बाद पहला ट्वीट आज किया है.

तेज प्रताप द्वारा ट्वीट किये गए रहीम के दोहे से साफ है कि उन्होंने तलाक और उसके बाद उनपर समझौते को लेकर बन रहे दबाव के संदर्भ में ट्वीट किया है. दोहे का अर्थ है- ”…यदि प्रेम का धागा एक बार टूट जाता है तो फिर इसे मिलाना कठिन होता है और यदि मिल भी जाए तो टूटे हुए धागों के बीच में गांठ पड़ जाती है.”

हालाँकि उन्होंने आधा दोहा ट्वीट किया. पूरा दोहा इस प्रकार है- “रहिमन धागा प्रेम का, मत तोड़ो चटकाय.. टूटे से फिर ना जुड़े, जुड़े गांठ परि जाय.” जिसका मतलब होता है प्रेम के धागे को कभी तोड़ना नहीं चाहिए क्योंकि यदि प्रेम का धागा एक बार टूट जाता है तो फिर इसे मिलाना कठिन होता है और यदि मिल भी जाए तो टूटे हुए धागों के बीच में गांठ पड़ जाती है.”

ये साफ़ ज़ाहिर हो रहा है की तेज प्रताप घर वालों के दबाव में तलाक नहीं लेते हैं तो भी ऐश्वर्या से उनके रिश्तों में पहले जैसी बात नहीं रह जाएगी. तेज प्रताप अपनी मां समेत परिवार द्वारा पत्नी ऐश्वर्या से अलग होने के उनके फैसले का समर्थन नहीं करने को लेकर परेशान और नाराज हैं.

वह लगातार धार्मिक स्थलों का दौरा कर रहे हैं. उन्होंने दो नवंबर को कोर्ट में तलाक की अर्जी दाखिल किया था. वहीँ जब राबड़ी देवी से पूछा गया, कहां हैं तेजप्रताप तो बोलीं- बेटा है आ ही जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here