ओथ ऑफ एलिजिएंस (शपथग्रहण) के बाद शिवांगी से हाथ मिलाते डिप्टी कमांडेंट रियर एडमिरल पुनीत चड्‌ढा।

बिहार की बेटी और मुजफ्फरपुर के भगवानपुर की निवासी शिवांगी एझिमाला (केरल) में कोर्स पूरा कर 26 नवंबर को नौसेना में भर्ती हो रहे 300 नए अफसरों में से एक होंगी। शिवांगी भारतीय नौसेना की दूसरी महिला पायलट होंगी।

शिवांगी से पहले नौसेना में यूपी की शुभांगी स्वरूप महिला पायलट के तौर पर पिछले साल भर्ती हुई थीं। अभी उनकी ट्रेनिंग चल रही हैं।  शिवांगी भी नौसेना अकादमी से पासआउट होने के बाद सब-लेफ्टिनेंट बनकर वायुसेना अकादमी, हैदराबाद में फ्लाइंग की ट्रेनिंग लेंगी।

शिवांगी कहती हैं, “खुद पर भरोसा करेंगे तो कुछ भी नामुमकिन नहीं। नौसेना में सबसे पहली महिला पायलटों में से एक होना चुनौतीपूर्ण है। हमारी सफलता ही नौसेना को यह भरोसा दिलाएगी कि महिला पायलटों की भर्ती का उनका फैसला सही है। यह आगे महिलाओं के पायलट बनने के सपने को भी साकार करने में मदद करेगा। हमें सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा तभी लड़कियां प्रेरित हो सकेंगी।”

Demo Image

शिवांगी के मुताबिक- “नौसेना अकादमी में ट्रेनिंग सरल नहीं है। एक चीज जाे पूरे जीवन के लिए सीखी, वह यह कि अगर आप अपनी सीमाओं को बढ़ाएंगे, खुद पर विश्वास करेंगे तो कुछ भी नामुमकिन नहीं है। अगर आप मेहनत करते रहेंगे तो कुछ भी पा सकते हैं।”

शिवांगी के मां प्रियंका और पिता हरिभूषण सिंह मुजफ्फरपुर में रहते हैं। शिवांगी ने 12वीं तक की पढ़ाई मुजफ्फरपुर के डीएवी-बखरी से की। सिक्किम मनिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से बीटेक किया। यहीं उन्हें नौसेना में भर्ती के लिए यूईएस (यूनिवर्सिटी एंट्री स्कीम) के बारे में पता चला। नौसेना कॉलेज में बच्चों को रिक्रूट करने पहुंची थी।

शिवांगी ने बताया कि रिक्रूटमेंट के दौरान नौसेना पर बनी डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई। नौसेना की व्हाइट ड्रेस और ट्रेनिंग टास्क देखकर तभी मन बना लिया कि उन्हें भारतीय डिफेंस फोर्स ज्वाॅइन करना है। और उनके इस निर्णय में उनके माता-पिता, भाई-बहन और दोस्तों ने भी उनका साथ दिया।

साभार- भास्कर.कॉम

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here