पटना:  घर में बेटा भले ही पिता के पैर छूकर आशीर्वाद ले, लेकिन ड्यूटी के दौरान पिता बेटा को ‘जय हिंद सर’ कहकर बोलेगा। दरअसल, शहर के विभूतिखंड थाने में तैनात कॉन्स्टेबल जनार्दन सिंह का बेटा IPS बन चुका है। लखनऊ जिले में ही बेटे को पोस्टिंग मिली है। ऐसे में पिता अब बेटे के मातहत के रूप में काम करेंगे। इस पर कॉन्स्टेबल जनार्दन सिंह गर्व से कहते हैं, मैं ऑन ड्यूटी अपने कप्तान को सैल्यूट करूंगा। वहीं बेटे अनूप सिंह ने कहा, फर्ज निभाने के लिए मैं प्रोटोकॉल का पालन करूंगा।

– आईपीएस अनूप सिंह ने बताया, उन्होंने अपने पिता से फर्ज और संस्कार सीखे हैं। इससे पहले वो गाजियाबाद, नोएडा और उन्नाव में एएसपी रह चुके हैं।

– उन्होंने इलाहाबाद यूनिवर्सिटी से गेजुएशन किया था। आगे की पढ़ाई उन्होंने जेएनयू से की।

– इसके बाद अनूप ने सिविल सर्विसेज की तैयारी की। बता दें कि पहले ही अटैम्प्ट में यूपीएससी क्रैक कर वे आईपीएस बने हैं।

स्कॉलरशिप के पैसे भी भेज देता था बेटा
– पिता के मुताबिक, जेएनयू में अच्छे मार्क्स लाने पर बेटे को स्कॉलरशिप मिलती थी। मना करने के बाद भी वो अपनी स्कॉलरशिप के रुपए घर भेज देता था।

– जनार्दन सिंह के परिवार में पत्नी कंचन, बेटी मधु और बहू अंशुल है। चूंकि बेटा अधिकारी है इसलिए वह अपने सरकारी आवास में रहेगा।

Source: Dainik Bhaskar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here