पटना: आज नवरात्र की महानवमी है. पूरे बिहार में पूजा पंडालों मां दुर्गे की खोहिचा भरने का सिलसिला जारी है. इन सबके बीच बिहार में कौन राम है और कौन रावण इसकी सियासत भी खूब हो रही है. पटना में राम रावण की पोस्टर राजनीति जारी है. राजद-जदयू में जुबानी घमासान जारी है. लेकिन इधर अस्थावा प्रखंड के मुस्तफापुर गांव में कुछ अलग ही माहौल है. बिहार के सत्ताधारी दल जदयू के राष्ट्रीय महासचिव राज्यसभा सदस्य आरसीपी सिंह के घर पूरा माहौल भक्तिमय है.

आरसीपी सिंह ने परिवार के साथ किया हवन

उनके मुस्तफापुर गांव स्थित घर के आंगन में हवन का आयोजन किया गया है. इस हवन में आरसीपी सिंह के साथ पत्नी गिरिजा सिंह, आईपीएस पुत्री लिपि (बाढ़ के एसडीपीओ) अधिवक्ता पुत्री लता सिंह के अलावे परिवार के अन्य सदस्यों ने भाग लिया. समाज में सुख समृद्धि और शांति का माहौल हो इसके लिए आरसीपी सिंह ने नवरात्र पूजा का आयोजन किया गया था.

आज समापन के मौके पर सभी परिवार जुटे थे. पत्नी गिरिजा से पिछले 9 दिनों से फलाहार कर मां भवानी शरण में थी. अपने पैतृक गांव में प्रवास कर रहे आरसीपी सिंह राजनीति से कोसों दूर रहे. सिर्फ इतना कहा मां अंबे सभी के जीवन को सुख समृद्धि भर दे.

इस मौके पर जदयू राज्य कार्यकारिणी के सदस्य मुन्ना सिद्दीकी, प्रदेश बुनकर सेल के उपाध्याय मनोज ताती, अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के पूर्व जिलाध्यक्ष विपिन चंद्रवंशी, अल्पसंख्यक सेल के जिलाध्यक्ष सुल्तान अंसारी, प्रदेश जदयू के पूर्व महासचिव अनिल महाराज के अलावे कई लोग उपस्थित थे.

खास बात ये है कि राज्यसभा सांसद आरसीपी सिंह जब अपने गांव में होते हैं तो आम लोगों के बीच गवई बन जाते हैं. स्थानीय लोगों से उन्हीं की भाषा में हाल चाल लेने और खेत खलिहान की बात करने की अदा सबों को भाती है.

Source: Live Cities News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here