नवरात्रि के पर्व का समापन का समय धीरे-धीरे पास आ रहा हैं, माँ दुर्गा के विसर्जन का दिन 19 अक्टूबर को हैं| ऐसे में जब नवरात्रि के शुरुआत होती हैं तो उस समय माँ दुर्गा की चौकी और कलश की स्थापना की जाती हैं| ऐसे में जब माँ दुर्गा का विसर्जन करना होता हैं तो उनके साथ कलश, नारियल, सुहाग सामग्री और चावल का क्या करना चाहिए|

(1) कलश में जो आपने नारियल को रखा था, उसे आप फोड़ कर प्रसाद के रूप में ग्रहण करे और परिवार को दें| इसके अलावा यदि आप नारियल को ग्रहण नहीं करना चाहते हैं तो नारियल को अपने परिवार के लोगों के ऊपर से वार को किसी नदी में प्रवाहित कर दे| .

(2) नवरात्रि के समय जो आपने घट के ऊपर चावल रखे हैं उसे आप अपने घर के अनाज में दाल दे| इससे आपके घर में अन्नपूर्णा का वास होगा| यदि आप यह नहीं करना चाहते हैं तो उस चावल को आप पशु-पक्षियों को डाल दे| .

(3) अब घट में जो आपने जल रखे थे उसे आप अपने घर वालो को पिलाये| .

(4) इसके अलावा जो आपने देवी माँ दुर्गा को शृंगार चढ़ाया हैं उसे घर के महिलाओं को इस्तेमाल कर लेना चाहिए| यदि घर की महिलाओं शृंगार इस्तेमाल नहीं कर पाती तो आप किसी गरीब महिला को दे दे| .

(5) इसके अलावा अपने कलश में हल्दी रखा था, उसे निकाल कर आप घर के खानों में इस्तेमाल करे परंतु एक बात का ध्यान रखे कि इस हल्दी का इस्तेमाल तामसिक भोजन में ना करे| .

(6) जिस जगह आपने चौका डाला था उस जगह आप रोज एक दिया जरूर जलाए| .

(7) कलश में जो आपने पैसे डाले हैं, उसे आप किसी गरीब को दान में दे| .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here