आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में हमारी रहने से लेकर खाने पीने की प्रवर्ति सब आधुनिक होती जा रही है। हम सब अपनी जिंदगी आराम से जीना चाहते है लेकिन जो आराम है वही हमारे स्वास्थ्य के लिए हानिकारिक होता जा रहा है।

हम बात कर रहे है अपने रोज की दिनचर्या में इस्तेमाल होने वाली चीजों के बारे में। इन के उपयोग से हमें कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी भी हो सकती है। कैंसर एक ऐसी बीमारी है कि इस का नाम सुनते ही अपने होश उड़ जाते है। आमतौर पर हमारी यही धारणा रहती कि कैंसर शराब ,सिगरेट और तम्बाकू जैसे मादक चीजों के सेवन करने से होता है लेकिन हम आपको बता रहे कि कैंसर और तरीकों से भी हो सकता है।

बंद पैकिट खाने से – आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों के पास खाना बनाने के लिए समय ही नहीं हैं। इस कारण से हम डिब्बा बंद खाने का उपयोग ज्यादा करने लगे है। इस तरह के खाने को हम कुछ समय में गर्म कर सकते है। लेकिन यह हमाने स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। इससे हमें कैंसर भी हो सकता है।

पॉपकॉर्न खाने से – आजकल बाजार में पॉपकॉर्न के बंद पैकेट आ रहे है और माइक्रोवेव के जरिए कुछ ही समय मेें पॉपकॉर्न बन कर तैयार हो जाते है। माइक्रोवेव में जब पापकॉर्न के पैकट को गर्म करते है तो ये कई प्रकार के रसायन व केमिक ल छोड़ता है जिससे हमें फेफड़ो में कैंसर होने का खतरा हो सकता है।

रिफाइंड चीनी के भी हो सकता है कैंसर – कई लोगों का मानना है कि ब्राउन शुगर हमारे स्वास्थ्य के सही होती है लेकिन हम आपकों बता दे कि ब्राउन शुगर हमारी सेहत के लिए बिल्कुल भी सही नहीं होती। रिफाइंड चीनी व कॉर्न सीरप से हमें कैंसर भी हो सकता है।

कार्बोहाइड्रेट कोल्ड ड्रिंग्स – गर्मी का सीजन आते ही कोल्ड ड्रिंक्स की डिमाड़ काफी बढ़ जाती है लेकिन कोल्ड ड्रिंक्स का ज्यादा उपयोग करना हमारी सेहत के लिए काफी खतरनाक हो सकता है। क्योंकि कोल्ड ड्रिंग्स में कार्बोहाइड्रेट व कई तरह के केमिकल्स और कलर्स होते है।

तेल के ज्यादा उपयोग से -आजकल हम अपने खाने पीने मेें तेलों का इस्तेमाल बहुत ज्यादा करते है लेकिन यह हमाने सेहत के लिए सही नहीं है क्योंकि तेलों के कई प्रकार के केमिकल्स होते है।

डायट फूड से – आज के दौर में हम डायट फूड को अपनी सेहत के लिए अच्छा मानते है लेकिन यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है। इससे हमें कैंसर होने का खतरा भी हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here