पटना: उद्योग मंत्री ने राज्य में हुए निवेश की जानकारी देते हुए बताया कि नवादा में 670 मेगावाट की दो इकाइयों वाला न्यूक्लियर पावर प्लांट लगेगा। इससे राज्य में 70 हजार करोड़ रुपये का निवेश होगा। बिहार औद्योगिक क्षेत्र विकास प्राधिकार(बियाडा) के प्रबंध निदेशक आरएस श्रीवास्तव ने कहा कि न्यूक्लियर पावर कारपोरेशन आफ इंडिया यह प्लांट लगाएगी। परमाणु ऊर्जा विभाग के सचिव डा. शेखर बसू ने पिछले दिनों सहमति प्रदान कर दी है।

इसके लिए नवादा में एक हजार एकड़ जमीन चिह्न्ति की गई। यह व्यवस्था भी केंद्र सरकार ने कर दी है कि इसकी बिजली सीधे सेंट्रल सेक्टर को जाएगी, राज्य सरकार को खरीदने की बाध्यता नहीं रहेगी। न्यूक्लियर पावर प्लांट के इस प्रस्ताव का अभी राज्य का ऊर्जा विभाग अध्ययन कर रहा है।

मंत्री ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2017-18 में 749 प्रस्तावों के माध्यम से 9,500 करोड़ रुपये का निवेश हुआ। निवेशक के अभी कई प्रस्ताव पाइपलाइन में हैं। प्रबंध निदेशक ने इस संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेमोरियल मेडिकल कालेज अस्पताल में टाटा मेमोरियल अस्पताल की एक शाखा खुलेगी। स्वास्थ्य विभाग ने बुधवार को इसके लिए आवंटित 15 एकड़ जमीन चिह्न्ति कर दी है। इससे 190 करोड़ रुपये का निवेश होगा।

वहीं आइटीसी 550 करोड़ की लागत से मुजफ्फरपुर में खाद्य प्रसंस्करण की इकाई लगाएगा। इसके लिए जमीन चिह्न्ति कर ली गई है। यूएई की सहार ग्रुप गया में एक हजार करोड़ की लागत से खाद्य प्रसंस्करण से संबंधित इकाई लगाएगा। पिछले दिनों पंजाब के उद्यमियों के गारमेंट सेक्टर में आए करीब 1,000 करोड़ के निवेश के प्रस्ताव के संबंध में उन्होंने बताया कि दरभंगा और डेहरी ओनसोन में उन्हें जमीन दी जाएगी। एसपीवी गठित किया जा रहा है। पंजाब का एक और ग्रुप दरभंगा में 25 करोड़ की लागत से डाईंग एवं ब्लीचिंग की इकाई लगाएगा।

Source: Live Bihar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here