मानें न मानें, लेकिन सच है कि तेजस्‍वी यादव अपने पीए (निजी सहायक) मणि यादव को लेकर घिरते जा रहे हैं. मुजफ्फरपुर महापाप मामले में वे जितने नीतीश कुमार की सरकार के प्रति अग्रेसिव हैं, उतने ही मणि यादव की चर्चा होते ही बैकफुट पर चले जाते हैं. अपने पति को लेकर जैसे मंजू वर्मा का जवाब था, वैसा ही राजनीतिक चाल जैसा जवाब तेजस्‍वी यादव देते हैं. पर बात बढ़ती जा रही है. अब सिर्फ जदयू ही नहीं सीपीआई (एमएल) के नेता दीपांकर भट्टाचार्या भी तेजस्‍वी यादव से मणि यादव से निजात पाने को कह रहे हैं.

सच है कि मणि यादव विरोधी दल के नेता तेजस्‍वी यादव के अभी सबसे भरोसेमंद हैं. बगैर मणि की सहमति के सामान्‍य लोग तेजस्‍वी यादव के करीब पहुंच भी नहीं सकते. लंबे अर्से से साथ हैं. पर, पिछले दिनों जदयू के प्रवक्‍ता व विधान पार्षद नीरज कुमार ने मणि यादव के खिलाफ बड़ा बम फोड़ दिया. मामला पुराना था, लेकिन गंभीर था. सबूत के साथ नीरज कुमार मीडिया में आए थे.

मणि यादव के खिलाफ देह व्‍यापार का है केस

जदयू प्रवक्‍ता नीरज कुमार ने मणि यादव के विरुद्ध कई साल पहले पटना के गांधी मैदान थाने में दर्ज मामले को सामने लाया. यह केस देह व्‍यापार के संगीन आरोप में मणि यादव व अन्‍य के खिलाफ दर्ज किया गया था. पुलिस ने मणि यादव को गिरफ्तार कर जेल भी भेजा था.

बाद में पटना पुलिस ने मणि यादव व अन्‍य के विरुद्ध चार्जशीट भी दायर की. अब जब मुजफ्फरपुर महापाप मामले में तेजस्‍वी यादव खूब अटैक कर रहे हैं, तो जदयू की महिला सेल का शिष्‍टमंडल मणि यादव मामले में मिलने को बिहार के डीजीपी के पास चला गया. ज्ञापन देकर स्‍पीडी ट्रायल की मांग की. इस मामले पर तेजस्‍वी बहुत कुछ नहीं बोलते हैं. पुराना और राजनीतिक साजिश की बात कह दी जाती है.

कौन हैं मणि यादव, तेजप्रताप भी खफा हैं

दरअसल, लालू यादव की फैमिली की सेवा में मणि यादव अकेले नहीं हैं. मणि के दो और भाई नागमणि और ओमप्रकाश भी लालू फैमिली से ही अटैच्‍ड हैं. तीनों का लालू परिवार में दखल इसलिए है, क्‍योंकि सभी राबड़ी देवी के गांव से हैं. रिश्‍ता भी निकालते हैं. राबड़ी देवी सबों को मानती भी हैं.

मणि के दूसरे भाई नागमणि सीधे राबड़ी देवी का काम देखते हैं. जानकार मैडम का पीए ही मानते हैं. तीसरा भाई ओमप्रकाश पहले तेजप्रताप यादव के साथ जोड़े गए थे. जब वे महागठबंधन की सरकार में बिहार के हेल्‍थ मिनिस्‍टर थे, तब ओमप्रकाश तेजप्रकाश के पीए थे. पर, अब तेजप्रताप को ओमप्रकाश बिलकुल पसंद नहीं हैं. इसके लिए लालू फैमिली में कई बार बखेड़ा हो चुका है, जिसे लालू यादव ने समय-समय पर बहुत मुश्किल से संभाला है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here