थाईलैंड में गुफा में फुटबॉल टीम के 12 बच्चों और उनके कोच की जान बचाने में महाराष्ट्र के सांगली जिले के किर्लोस्कर ब्रदर्स लिमिटेड कंपनी के डिजाइनिंग इंजीनियर प्रसाद कुलकर्णी ने अहम भूमिका निभाई.

बता दें कि थाईलैंड की गुफा में फंसे 12 फुटबॉलर बच्चों समेत उनके कोच को सुरक्षित बचा लिया गया है. लंबी जद्दोजहद के बाद मंगलवार को वह वक्त आया जब स्पेशल रेस्क्यू ऑपरेशन पूरा कर लिया गया. इस घटना ने पूरी दुनिया की नजर खींची और हर तरफ बच्चों के लिए मन्नतें की गईं. अब इन बच्चों को डॉक्टरों की देखरेख में रखा गया है.

गुफा में फुटबॉल टीम और उनके कोच 23 जून से फंसे हुए थे. उसी वक्त शुरू हुई तेज बारिश के कारण गुफा से बाहर आने के रास्ता बंद हो गया था और सभी लोग गुफा में फंस गए थे. कई देशों की टीम्स इनको बचाने के लिए रवाना हुई थी. तभी थाईलैंड सरकार ने भारत सरकार से किर्लोस्कर पंप भिजवाने की मांग की. ताकि गुफा में भरे पानी को बाहर निकाला सके.

बता दें कि बैंकॉक में किर्लोस्कर कंपनी की एक ब्रांच है, जंहा से यह पंप मुहैया कराए गए. उनको सुचारू रूप से शुरू करने के लिए सांगली जिले के प्रसाद कुलकर्णी अपनी टीम के साथ थाईलैंड गए थे. जहां बीच जंगल में जनरेटर के जरिए उन्होंने ये पंप शुरू किए.

वहीं, थाईलैंड सरकार ने प्रसाद कुलकर्णी और उनकी टीम का शुक्रिया अदा किया है. गुरुवार या शुक्रवार को यह टीम भारत वापस आने वाली है.

इससे पहले 2011 में भी जब ऐसी ही भयंकर बाढ़ थाईलैंड में आई थी तब बैंकॉक में स्थित किर्लोस्कर ब्रदर्स लिमिटेड ने अतुलनीय मददकार्य करके आपदाग्रस्त लोगों को बचाया था. प्रचंड शक्तिशाली किर्लोस्कर पंप के जरिए बहुत ही तेजी से बाढ़ का पानी निकाला गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here