पटना: शराबबंदी कानून को लेकर नीतीश कैबिनेट ने आज शराबबंदी के कड़े कानून में संशोधन करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। बता दें कि अब इस संशोधन में किसी भी व्यक्ति के पास से शराब बरामद होती है तो घर, गाड़ी और खेत जब्त करने के प्रावधान को खत्म किया जायेगा। इसके अलावा अगर कोई पहली बार शराब पीते हुए पकड़ा जाता है तो उस पर पचास हजार रुपये का जुर्माना या तीन महीने की जेल होगी। संशोधन में शराबबंदी कानून के तहत सामूहिक जुर्माना खत्म करने के प्रस्ताव को कैबिनेट से मंजूरी दी गई है।

बिहार कैबिनेट ने दी शराबबंदी कानून में संशोधन की मंजूरी

गौरतलब हो कि शराबबंदी के कानून में संशोधन को लेकर पहले भी कई बार नीतीश कुमार कहते आ रहे हैं कि इसके लिए कानूनविदों से सलाह लिया जा रहा है। और इसे आगामी विधानसभा सत्र में संशोधन के लिए पेश किया जायेगा।

वहीं, संशोधन में शराब में हानिकारक पदार्थ मिलाने और इससे मृत्यु होने पर सख्त कानून का प्रस्ताव की मंजूरी दी गयी है। ऐसे अपराध पर उम्रकैद या फिर मौत की सजा हो सकती है। इसके साथ ही तीन साल की सजा पूरा कर चुके लोग जेल से बाहर निकलेंगे।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में बुधवार को हुई बिहार कैबिनेट की बैठक में कुल 39 एजेंडों पर मुहर लगायी गयी। बिहार कैबिनेट की बैठक में शराबबंदी कानून में संशोधन का प्रस्ताव मंजूर किया गया तो वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली सप्लाई के लिए ग्रिड बनाने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी गयी।

Source: Humara Bihar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here