पटना: दुनिया चीन को कुछ भी कहे लेकिन चीन दिन ब दिन तरक्की कर रहा है। फिर चाहे बात टेक्नोलॉजी की हो या फिर ऑटोमोबाइल कंपनियों की।

इन दिनों चीन में समुद्र तल से 5900 फीट की ऊंचाई पर पहाड़ के ऊपर नया एयरपोर्ट तैयार किया जा रहा है। ये एयरपोर्ट कोई आम एयरपोर्ट नहीं। भले ही ये एयरपोर्ट छोटा होगा लेकिन ये दुनिया का सबसे शानदार एयरपोर्ट बनाया जाएगा। ये एयरपोर्ट चॉन्गकिंग शहर में पहाड़ को काटकर बनाया जा रहा है, जिस पर 1719 करोड़ रु. खर्च किए जाएंगे।

इस एयरपोर्ट नाम वुशान होगा। ये एयरपोर्ट चॉन्गकिंग के वुशान टाउन के बाहरी इलाके में 15 किलोमीटर दूरी पर पहाड़ के टॉप पर बन रहा है। इसमें डोमेस्टिक एयरपोर्ट के लिए 2600 मीटर लंबा और 45 मीटर चौड़ा एक रनवे होगा। एयरपोर्ट पर 5 प्लेन के लिए खड़े होने की जगह होगी।

इसमें सबसे खास बात ये है कि ये पूरा का पूरा पहाड़ी इलाका है, जिसके चलते कंस्ट्रक्शन के लिए पहाड़ों को डायनामाइट से तोड़ा जा रहा है और फिर इन्हें मशीनों से काटकर समतल किया जा रहा है।  वुशान सरकार के मुताबिक, ये प्रोजेक्ट छह साल पहले शुरू किया गया था और जून के आखिर तक इसके पूरा होने की उम्मीद है। यहां सर्विसेज अगले साल से शुरू होंगी।

आपको एक बात बता दें कि इस एयरपोर्ट की साइट पर एक समय में 2000 वर्कर्स और 800 मशीनें काम कर रही होती हैं।  वुशान एयरपोर्ट को चॉन्गकिंग जियांगबेई इंटरनेशनल एयरपोर्ट का ट्रैफिक डायवर्ट करने के मकसद से तैयार किया जा रहा है। पिछले साल चॉन्गकिंग एयरपोर्ट ने करीब 4 करोड़ पैसेंजर्स को हैंडल किया था।

2020 तक वुशान एयरपोर्ट करीब 280,000 पैसेंजर्स और लगभग 1,200 टन सामान की ढुलाई को हैंडल करने लगेगा। यहां से बीजिंग, शंघाई, गुआंगझोऊ, चॉन्गकिंग और चीन के मुख्य शहरों के लिए फ्लाइट्स होंगी।  इस एयरपोर्ट को लोकल टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिहाज से भी काफी अहम माना जा रहा है। यकीनन अगर ये एयरपोर्ट बनकर तैयार हो जाता है तो ये दुनिया के लिए मिसाल होगी क्योंकि चोटी का काट कर एयरपोर्ट में बदल देना आसान काम नहीं है। इसके जरिए यहां मौजूद मशहूर गॉडेस पीक और तीन खूबसूरत डैम भी लोग देखने के लिए पहुंचेंगे।

Source: Live News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here