पटना: आईपीएल 2018 के 14वें मुकाबले में मुंबई इंडियंस के खिलाफ मैच में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को 46 रनों से हार का सामना करना पड़ा। लेकिन मैच में कप्तान विराट कोहली ने एक बड़ी उपलब्धि अपने नाम की। इस मुकाबले में विराट कोहली ने शानदारा पारी खेलते हुए नाबाद 92 रन बनाए। इसी के साथ वो  सुरेश रैना को पीछे छोड़ते हुए आइपीएल में सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी भी बन गए, लेकिन अफसोस कोहली इस मैच में अपनी टीम को जीत नहीं दिला सके। आईपीएल में विराट के अब 153 मैचों की 145 पारियों में 4619 रन हो गए है। वहीं दूसरे नंबर पर सुरेश रैना है जिन्होंने 163 मैचों की 159 पारियों में 4558 रन बनाए हैं।

हालांकि विराट मैच के बाद बहुत ज्यादा निराश नजर आए। विराट ने मैच के बाद पूरी टीम पर अपना गुस्सा भी निकाला। विराट के गुस्‍से का कारण बना मुंबई इंड‍ियंस के बल्‍लेबाजी के दौरान 19वां ओवर. इस ओवर में बेहद नजदीकी मामले में हार्दिक पांड्या को थर्ड अंपायर ने नॉट आउट करार दिया. साथ ही हार्दिक पांड्या ने इसका पूरा फायदा उठाते हुए अगली 2 गेंदों में 2 शानदार सिक्‍स लगाए। इससे अंपायर पर कोहली का गुस्‍सा 7वें आसमान पर पहुंच गया।

कोहली ने मुंबई की बल्‍लेबाजी खत्‍म होने के बाद भी अंपायर से इस बात पर नाराजगी जाहिर की। कोहली फैसले के बाद बार बार स्‍क्रीन की ओर इशारा कर अंपायर को गलत ठहराते रहे। शानदार बल्‍लेबाजी करते हुए कोहली ने 92 रन बनाए, हालांकि वे मैच नहीं जीता सके। वे इस बड़ी पारी के साथ इस सीजन में ऑरेंज कैप होल्‍डर भी बन गए। इसके बावजूद कोहली का गुस्‍सा शांत नहीं हुआ।

सेरेमनी के दौरान विराट को जब IPL की ऑरेंज कैप दी गई तो उन्होंने उसे पहनने से इंकार कर दिया. हालांकि, बाद में उसे लिया। ऑरेंज कैप लेते हुए कोहली ने अपना गुस्‍सा जाहिर किया। कोहली ने कहा कि  ”मैं इसे नहीं पहनना चाहता। फिलहाल, इसे फेंक देने का मन कर रहा है और मैं इस पर फोकस करना चाहता हूं कि हमने विकेट कैसे गंवाए”। कोहली का यह गुस्‍सा अंपायर के लिए नहीं बल्‍कि, आरसीबी के बड़े ख‍िलाड़‍ियों के लिए था जो पिच पर उनका साथ देने में नाकाम रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here