आरक्षण के विरोध में भारत बंद का असर दिखने लगा है। बिहार के आरा नगर थाने में आनंदनगर इलाके में बंद समर्थकों और विरोधियों के बीच हिंसक झड़प हुई है।

दोनों तरफ से फायरिंग की जा रही है। इसके अलावा आरा में ही सैकड़ों युवाओं ने पटना पैसेंजर ट्रेन को रोक दिया। आक्रोशित युवाओं ने रेल पटरी पर उतरकर आरक्षण के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इसके अलावा पटना-कोलकाता रेलखंड का परिचालन ठप हो गया है।

प्रदर्शनकारियों ने बरौनी पैसेंजर ट्रेन को रोक दिया है। कई लोग रेल पटरी पर बैठकर ही प्रदर्शन कर रहे हैं. दरभंगा की ललित नारायण मिश्रा यूनिवर्सिटी ने अपने बीए के पेपर को टाल दिया है. इसके अलावा कई प्राइवेट स्कूलों को भी बंद किया गया है।

यही नहीं प्रदर्शनकारियों ने कई जगहों पर आगजनी की जिसके बाद कई किलोमीटर लंबा जाम लग गया है। जो युवा नारेबाजी कर रहे थे उनका कहना था कि आरक्षण जाति के हिसाब से नहीं बल्कि आर्थिक रुप से कमजोर लोगों को मिलना चाहिए ताकि हर वर्ग के लोग समाज की मुख्यधारा में आ सके।

इसके अलावा बिहार में NH 219 के पास रतवार गांव में लोगों ने सड़क को जाम कर दिया है और नारेबाजी कर रहे हैं। मुजफ्फरपुर में मंगलवार सुबह पटना रोड के पास टायर जलाकर प्रदर्शन किया गया. इसके अलावा भगवानपुर में मुख्य सड़क पर जाम लगा दिया गया है।

बता दें SC/ST एक्ट में हुए बदलावों के विरोध में 2 अप्रैल को दलित संगठनों ने भारत बंद बुलाया था। अब आरक्षण के विरोध में आज भारत बंद बुलाया गया है। इस बंद को लेकर देश के सभी राज्यों की पुलिस हाईअलर्ट पर है, गृहमंत्रालय ने भी सभी राज्यों को सख्ती बरतने के लिए कहा है. कई राज्यों में भारत बंद के चलते धारा 144 लागू की गई है। ये भारत बंद आरक्षण के विरोध में बुलाया गया है।

गृह मंत्रालय ने सोमवार को ही सभी राज्यों को एडवाइज़री जारी की थी। इसमें राज्यों के डीएम और एसपी को अलर्ट जारी किया गया था और बंद के दौरान सतर्क रहने को कहा गया था। आपको बता दें कि ये बंद किसी संगठन के द्वारा नहीं बुलाया गया है। बल्कि 2 अप्रैल के बाद लगातार सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे संदेशों के जरिए ही बुलाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here