गणेश याद है आप लोगों को ? अरे वही जिसने बोर्ड की परीक्षा में अपनी उम्र कम करवाई थी। गणेश इंटर बोर्ड का टॉपर बना था , जिससे वो सुर्खियों में तो आया ही साथ साथ जेल भी चला गया। गलत तरीके से बोर्ड की परीक्षा में शामिल होने और गलत तरीके से पास होने के लिए गणेश को जेल की हवा खानी पड़ी थी।

इसके बाद इसी कड़ी से जुड़े मेरिट घोटाले के कई पर्दे उठते गए। जांच के तहत शिक्षा विभाग के कई लोगों को दोषी पाया गया। बाद में सभी को हिरासत में लिया गया था।

गौरलतब है कि जून महीने से ही गणेश पर कार्रवाई चल रही है। और बोर्ड ने अंततः गणेश की टॉपर पोजीशन रद्द कर दी है। अब गणेश इंटर टॉपर नहीं है। इंटर परीक्षा सत्र 2016–2017 की टॉपर अब नेहा कुमारी हैं। जो कि आर्ट्स विभाग से हैं।

मगर जहां बोर्ड ने एक गलती को सुधारा वहीं दूसरी तरफ बोर्ड ने दूसरी गलती कर दी! ख़बर है कि बोर्ड की परीक्षा में एक विद्यार्थी का रिजल्ट पेंडिंग है क्योंंकि स्कूल की तरफ से उसके प्रेक्टिकल के मार्क्स जमा नहीं हुए थे। जब बोर्ड ने यह खबर स्कूल तक पहुंचाई और प्रैक्टिकल के नंबर की मांग की तब स्कूल ने ऐसा जबाव दिया जिसपर यकीन करना ज़रा मुश्किल है। स्कूल प्रशासन का कहना है कि छात्र ने बोर्ड की परीक्षा दी ही नहीं थी। ना वह एडमिट कार्ड लेने आया था और ना ही उसने किसी भी विषय की परीक्षा दी थी। उसने मात्र परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया था। बता दें कि यह मामला पटना के सर जीडी पाटलिपुत्र उच्च माध्यमिक विद्यालय का है।

स्कूल के प्राचार्य डॉ. सुषमा रानी का कहना है कि बोर्ड की अव्यवस्था एक प्रतिष्ठित स्कूल की छवि खराब कर रही है। हमने बोर्ड को इस संदर्भ में एक पत्र लिखा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here