pittha bihari cuisine

pittha bihari cuisine

बात जब सर्दियों की हो, तो कुछ ख़ास व्यंजन तो याद जरूर ही आ जाते हैं। और अगर बिहार की बात करें, तो यहाँ सर्दियाँ कुछ ख़ास पकवानो के बिना अधूरी हैं। उन्हीं में से एक है “पिट्ठा”

शायद ही कोई ऐसा बिहारी होगा जो पिट्ठा के बारे में नहीं जनता होगा। पिट्ठा का नाम सुनते ही किसी भी बिहारी के मुँह में पानी आ जायेगा। बिहार के बाहर रहने वाले ज्यादातर लोगों को लगता है की बिहार में सिर्फ लिट्टी-चोखा का क्रेज है, लेकिन सच ये है की लिट्टी-चोखा के साथ ही पिट्ठा भी सभी उम्र वर्ग के बीच काफी लोकप्रिय है। चावल के आटे की लोई में खोया भरकर बनाया जाता है पिट्ठा या फिर आलू की चटपटी भुंजिया या मसालेदार चने की दाल को भी भरके स्टीम करके बनाया जाता है। या फिर आप सादा पिट्ठा भी बना सकते हैं।

स्वाद से परिपूर्ण ये पकवान काफी सेहतमंद भी है। खोये वाले पिट्ठे के साथ आलू-गोभी-मटर की सब्ज़ी बनाई जाती है और नमकीन पिट्ठे के साथ विभन्न प्रकार की चटनियाँ परोसी जाती हैं।

pittha bihari cuisine

कैसे बनाते हैं खोये वाला पिट्ठा

चावल का पिठ्ठा बनाने के लिये सबसे पहले चावल के आते को गर्म पानी में मसल मसल कर, एकदम नरम चापाती जैसा आटा होने तक गूथिये। नरम गुथे आटे को 15-20 मिनिट के लिये ढककर रख दीजिये, ताकि आटा अच्छी तरह फूल कर सैट हो जाय।

जब तक आटा सेट होता है तब तक पिठ्ठा में भरने के लिये खोया तैयार कर लेते हैं. आप बाजार से खाया ला सकते हैं या फिर दूध से खोया घर में भी बना सकते हैं। खोये में चीनी, सूखे मेवे ( कटा हुआ बादाम, काजू, क्रश किया हुआ इलाइची इत्यादि ) मिला लें। आप चाहे तो रोस्ट किये हुए मूंगफली को पीसकर भी मिला सकते हैं। लीजिये पिठ्ठा में भरने के लिये फिलिंग तैयार है।

खोये को किसी बर्तन में निकाल लेते है और थोड़ा ठंडा होने के बाद पिठ्ठा बनाना शुरू करते हैं। चावल का आटा फूल कर सेट हो गया है। हाथ पर थोड़ा लीजिये। पिठ्ठा पकाने के लिये स्टीमर के नीचे के बर्तन में 2 कप पानी भर कर गरम होने रख दीजिये।

आटे को 10-11 भागों में बांट कर गोल लोइया बना कर तैयार कर लीजिये, एक लोई हाथ में उठाकर, दोनों हाथ की उंगलियों की सहायता से बड़ा कर कटोरी की तरह बना लीजिये, पिठ्ठा के लिये तैयार की गई कटोरी में , 1 1/2 चम्मच खोया रखिये और फिलिंग को अच्छी तरह बन्द कर दीजिये, पिठ्ठा को बन्द करते समये ये ध्यान रहे कि वह फटना नहीं चाहिये, पिठ्ठा को गोल करके थाली में लगाकर रख लीजिये, सारे पिठ्ठा इसी तरह भर कर तैयार कर लीजिये।

स्टीमर में भरे पानी में उबाल आने के बाद, जाली के बर्तन में तेल लगाकर पिठ्ठा पकाने के लिये थोड़ी थोड़ी दूर पर लगा दीजिये। पिठ्ठा वाले बर्तन को पानी के बर्तन के ऊपर रख दीजिये ढककर पिठ्ठा को 12 – 14 मिनिट तक पकने दीजिये, और चेक कीजिये, पिठ्ठा पकने पर, उसका कलर पहले की अपेक्षा बदल जाता है और वह चमकीला दिखता है।

ये लीजिये खोये वाला पिठ्ठा तैयार है. पिठ्ठा को प्लेट में निकालिये और आलू-गोभी-मटर की सब्ज़ी के साथ मज़े से खाइये।

pittha bihari cuisine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here