2 सहेलियां बेगूसराय में कोर्ट मैरिज करने पहुंचीं, खूब हुआ हंगामा, लोगों को याद आई चतरा की पूजा

खबरें बिहार की जानकारी

शुक्रवार की शाम बेगूसराय व्यवहार न्यायालय में दो समलैंगिक सहेली कौतूहल का विषय बन गई। इस दौरान सहेलियों के स्वजन के न्यायालय पहुंचने और एक सहेली को अपने साथ ले जाने की बात पर घंटों हंगामा होता रहा। हंगामा होता देख न्यायालय परिसर में जुटे अधिवक्ताओं ने बीच बचाव का प्रयास किया लेकिन दोनों सहेलियों पर प्यार का ऐसा भूत सवार था कि वे अलग होने को तैयार नहीं हुईं।

मामला उलझता देख अधिवक्ता ने बंधपत्र बनवाकर दोनों सहेली को महिला थाने को सौंप दिया। महिला थाने से दोनों को बालिग देखकर देर रात मुक्त कर दिया गया। इधर, उक्त घटनाक्रम की चर्चा शहर में जोर-शोर से हो रही है। 2020 में भी समलैंगिक प्यार के एक मामले में झारखंड के चतरा से एक प्रेमिका अपनी सहेली के ससुराल पहुंच गई थी।

पति द्वारा पुलिस में फरियाद लगाने के बाद समलैंगिक सहेलियों को साथ रहने की अनुमति मिली और दोनों एक साथ अपना घर बसाने चली गई थीं। नगर थाना क्षेत्र के हरहर महादेव चौक निवासी 20 वर्षीया पिंकी व हर्रख निवासी 22 वर्षीया काजल समलैंगिक सहेली हैं। दोनों बीए की छात्रा हैं और शादी कर एक साथ रहना चाहती हैं। स्वजनों को जब दोनों के रिश्ते की जानकारी हुई तो उन्होंने विरोध किया।

स्वजनों के विरोध से आजिज ये सहेलियां शुक्रवार को कोर्ट मैरिज करने न्यायालय पहुंच गईं और इनके पीछे पिंकी के घरवाले भी न्यायालय पहुंच गए। इसके बाद परिजन उसे अपने साथ ले जाने का दबाव बनाने लगे। स्वजन का दबाव देख दोनों बिफर गईं और सार्वजनिक रूप से एक-दूसरे के साथ रहने और शादी करने की बात करने लगीं।

मौके की गंभीरता देखते हुए अधिवक्ता ने दोनों से बंध पत्र पर हस्ताक्षर कराने के बाद महिला थाने को सौंप दिया। सहेलियों ने बताया के दोनों की दोस्ती पांच वर्ष पहले से है। बंध पत्र में आयुषी उर्फ काजल ने पिंकी की सारी जबावदेही उठाने पर सहमति जताई है।

समलैंगिक प्यार में चतरा से बेगूसराय पहुंची थी पूजा वर्मा

2020 के जून महीने में समलैंगिक सहेलियों के प्यार का एक किस्सा अब भी लोगों के जेहन में है। इस मामले में झारखंड के चतरा निवासी पूजा वर्मा और सपना कुमारी के बीच समलैंगिक रिश्ते बन गए। दोनों एक साथ एक माल में काम करती थीं। स्वजनों को जानकारी होने पर 14 जून को सपना की शादी बेगूसराय के पटेल चौक निवासी सुमित कुमार से करा दी गई। शादी के 15 दिन बाद ही पूजा वर्मा अपनी सहेली के पास पहुंच गई और सपना के साथ रहने की जिद करने लगी।

मामले की नजाकत को देखते हुए सपना के ससुराल वालों ने पुलिस से गुहार लगाई। पुलिस दोनों को थाना ले गई और पूछताछ शुरू की गई। पूछताछ में उन्होंने समलैंगिक रिश्ते स्वीकार करते हुए साथ जीने व मरने की बात कही। पुलिस ने दोनों की उम्र के सत्यापन व बयान अंकित करते हुए समलैंगिक जोड़ी को एक साथ झारखंड के लिए विदा कर दिया था। इधर पिंकी व काजल की प्रेम कहानी के चर्चे ने सपना व पूजा वर्मा के समलैंगिक रिश्ते की याद ताजा कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.