दो गज दूरी और मास्क है जरूरी… ओमिक्रॉन को लेकर बिहार में अलर्ट, सभी जिलों के लिए गाइडलाजन जारी, विदेश से लौटने वालों की एयरपोर्ट पर जांच

जानकारी

वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन को लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से अलर्ट पर आ गया है। राज्य के सभी जिलों में संक्रमण के इस नए वेरिएंट की रोकथाम के संबंध में जिला स्तर पर दिशा-निर्देश दिया गया है। जिलों में पहले से बनाये गए डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर एंव कोविड केयर सेंटर में लगे बेड और उपकरणों की साफ-सफाई करने के आदेश दिए गए हैं। ताकि जरूरत पड़ने पर कोरोना के मरीजों को भर्ती किया जा सके। इसके साथ ही ओमिक्रॉन के प्रबंधन को लेकर भारत सरकार से जारी दिशा-निर्देश का पालन सुनश्चित करने के लिए कहा गया है।

विदेश से लौटने वाले व्यक्तियों की जांच पटना, गया एवं दरभंगा एयरपोर्ट पर की जा रही है। कम से कम पांच प्रतिशत यात्रियों के आरटीपीसीआर जांच के लिए रैंडम सैंपल संग्रह करने के लिए कहा गया है, जबकि अधिक से अधिक रैपिड एंटीजन किट से जांच की जायेगी। कोविड जांच में पॉजिटिव पाये जाने पर उस यात्री का सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए आईजीआईएमएस भेजा जायेगा।

विदेश से भारत लौटने वाले बिहार के प्रवासियों की सूची जिलावार प्रतिदिन भेजी जा रही है। सूची के आधार पर चिह्नित व्यक्तियों से दूरभाष पर संपर्क कर तथा उनके घर पर स्वास्थ्य कर्मियों को भेजकर सैंपल कलेक्शन किया जा रहा है। विदेश से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की आरटीपीसीआर जांच करना सुनिश्चित किया जा रहा है। 

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने रविवार को कोविड अनुरूप व्यवहारों का पालन और मुंह पर मास्क और दो गज की दूरी के साथ-साथ साफ-सफाई का ख्याल रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि जिनका भी सेकेंड डोज का समय हो गया है, वे टीका लेकर पुरस्कार के भागी बनें।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.