वीजा उल्लंघन में 17 विदेशी जमातियों को भेजा गया जेल, मस्जिद में छिपने के दौरान पकड़े गये थे जमाती

खबरें बिहार की

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच किर्गिस्तान, कजाकिस्तान व मलेशिया से टूरिस्ट वीजा पर पटना आकर धार्मिक प्रचार करते समय दीघा व फुलवारीशरीफ से पकड़े गये 17 जमातियों को आखिरकार पुलिस ने सोमवार को बेऊर जेल भेज दिया।

जेल भेजे गये जमातियों में नौ किर्गिस्तान, एक कजाकिस्तान और सात मलेशिया के रहने वाले हैं। इन सभी के ऊपर वीजा के नियमों का उल्लंघन करने तथा पुलिस प्रशासन को जानकारी न देने के साथ ही फार्म सी नहीं भरने का आरोप है। इनमें 10 जमातियों के खिलाफ वीजा उल्लंघन के मामले में दीघा थाने तथा सात के खिलाफ फुलवारीशरीफ थाने में एफआईआर भी दर्ज की गई है। 

मस्जिद में छिपने के दौरान पकड़े गये थे 
कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच जब लॉकडाउन घोषित किया गया तो 10 जमाती दीघा के गेट नंबर 74 स्थित कुजी मस्जिद में जाकर छिप गये थे। इसी प्रकार सात जमाती फुलवारीशरीफ के अल्वा कॉलोनी में छिपे थे। लोगों के हंगामे के बाद दीघा पुलिस ने मस्जिद में छिपे दसों जमातियों तथा फुलवारीशरीफ पुलिस ने 7 जमातियों को 23 मार्च को पकड़ा गया था। इसके बाद सभी जमातियों को पटना एम्स भेजा गया। जहां तीन बार की जांच में सभी जमातियों की कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव पाई गई। बावजूद इसके फुलवारीशरीफ के सातों जमातियों को संगी मस्जिद में 14 दिन के लिए क्वारंटाइन में रखा गया। इसी प्रकार दीघा से पकड़े गये जमाती भी एक जगह क्वारंटाइन किये गये थे। इस दौरान की जांच में पकड़े सभी जमाती वीजा के नियमों का उल्लंघन करते पाये गये। 

बेऊर जेल के अलग वार्ड में रखे जाएंगे जमाती
कोर्ट से न्यायिक अभिरक्षा में सभी जमातियों को रात करीब नौ बजे बेऊर जेल ले जाया गया। यहां गेट पर सभी जमातियों की हेल्थ स्क्र्रींनग की गई। जेल अधीक्षक जवाहर लाल प्रभाकर ने कुल 17 जमातियों के जेल आने की पुष्टि की और बताया कि इन सभी जमातियों को अलग वार्ड में रखा जाएगा। 

जेल भेजे गये जमातियों का वीजा जून तक वैध था, लेकिन ये सभी टूरिस्ट वीजा पर यहां आए थे। ऐसे में उनके द्वारा धार्मिक प्रचार नहीं किया जा सकता था। यही नहीं उनके द्वारा फॉर्म सी भरा नहीं गया था। इस आरोप में एफआईआर दर्ज कर इन जमातियों को जेल भेजा गया है। 

Sources:-Hindustan

Leave a Reply

Your email address will not be published.