1600 किलोमीटर दूर से सात फेरे लेने सुल्तानगंज आया दूल्हा, मांग भराने के बाद भाग गई दुल्हन

खबरें बिहार की जानकारी

राजस्थान के रायपुर एक व्यक्ति को उसकी शादी कराने के नाम पर सुल्तानगंज के लोगों ने जमकर ठगा। लड़की वाले गरीब हैं यह कहकर इस बात पर राजी करा लिया कि लड़की पक्ष के खर्च को भी लड़के वाले वहन करेंगे। शनिवार को दूल्हा कुछ लोगों को बरात लेकर आ गया तो यहां उसे मंडप नहीं दिखा। दूल्हे को दिलाशा दी गई कि अब शादी जमालपुर के एक मंदिर में करा दी जाएगी। दूल्हे ने मंदिर में दुल्हन की मांग भरी। फिर सरातियों में से एक ने दूल्हे से 60 हजार रुपये मांगे और कहा कि विदाई के लिए कुछ सामान खरीदना है। रुपये पाते ही वे लोग चंपत हो गए। उनकी खोज में जब दूल्हा और बराती गए तो उधर मंदिर से दुल्हन भी भाग गई। बराती लौटकर मंदिर आए तो जान गए कि उन्हें ठग लिया गया है और अपना-सा मुंह लेकर राजस्थान लौट गए।

लड़का पक्ष से पूरा खर्च कराने की शर्त

सुल्तानगंज थाना क्षेत्र के एक गांव के रहने वाले शख्स ने अपने गांव की एक लड़की की शादी अपने रिश्तेदार की मदद से राजस्थान के रायपुर के एक व्यक्ति से तय कराई थी। लड़की पक्ष द्वारा कहा गया था कि वह शादी तो कर लेंगे लेकिन शादी में खर्च नहीं कर पाएंगे। शादी का पूरा खर्च लड़का पक्ष को करना होगा। दोनों पक्ष से उक्त रजामंदी के बाद दूल्हा शनिवार की दोपहर 12 बजे सुल्तानगंज बरात लेकर पहुंचा। गांव में मंडप नहीं दिखा तो लड़का पक्ष सकते में आ गया। इसी बीच उन्हें आश्वासन दिलाया कि जमालपुर के एक मंदिर में शादी कराई जाएगी। दूल्हे के लिए एक गाड़ी रिजर्व की गई।

बीच रास्ते दुल्हन की भर दी मांग

स्टेशन से शादी के लिए दोनों पक्ष मंदिर के लिए रवाना हुए तो दूल्हे ने अपनी शादी की पुष्टि के लिए रास्ते में ही दुल्हन की मांग भर दी। फिर स्टेशन लौटे तो शादी तय कराने वाले शख्स ने दूल्हा पक्ष से विदाई के लिए कुछ आवश्यक सामान खरीदने और शादी के खर्च के नाम पर ₹60 हजार रुपये लिये और एक सहयोगी के साथ बहाने से चंपत हो गया। काफी देर तक वापस नहीं गया तो पक्ष के लोग विदाई का सामान लेने के लिए उसे ढूंढने स्टेशन से बाहर निकल गए। दुल्हन ने कहा आप लोग जाइए मैं इंतजार कर रही हूं।

दुल्हन के बाद सराती भी हो गए चंपत

जैसे ही ये लोग निकले तो दुल्हन को मौका मिल गया और वह भी भाग गई। धीरे-धीरे दुल्हन पक्ष के ज्यादातर लोग खिसक गए। स्टेशन पर केवल दुल्हन का पिता और बड़ी बहन ही बचे थे। जब दुल्हन भाग गई तो दूल्हे पक्ष के लोगों ने अपने रुपये मांगे। उस समय पता चला कि दुल्हन का पिता और बहन नकली हैं। दूल्हा समझ गया था कि वह ठगी का शिकार हो गया और वह भी राजस्थान चला गया। पुलिस ने बताया कि इस मामले में किसी भी प्रकार का कोई आवेदन प्राप्त नहीं हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.