23 अगस्त को CM नीतीश के साथ PM मोदी से मिलेंगे बिहार के 11 नेता

राजनीति

Patna: जाति आधारित जनगणना के मुद्दे पर विमर्श करने के लिए आगामी 23 अगस्त को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ एक प्रतिनिधिमंडल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात करेगा. सोमवार को दिन के 11 बजे होने वाली इस मीटिंग में सीएम नीतीश के साथ बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव समेत कई नेता शामिल रहेंगे. पीएम से मुलाकात करने वाले डेलिगेशन में कौन-कौन नेता शामिल रहेंगे उनके नाम भी अब सामने आ गए हैं.

बिहार के संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने बताया कि सीएम नीतीश के अलावा जदयू से वह स्वयं होंगे. राजद से नेता प्रतिपक्ष तेजश्वी यादव, कांग्रेस से विधायक अजित शर्मा के अतिरिक्त भाकपा माले से महबूब आलम AIMIM से  अख्तरुल इमाम, हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा से पूर्व सीएम जीतन राम मांझी, वीआईपी से मुकेश साहनी, सूर्यकांत पासवान, जनक राम और अजय कुमार समेत 11 नेता होंगे.

विजय कुमार चौधरी ने बताया कि इस डेलिगेशन में भाजपा भी शामिल होगी और पार्टी की ओर से मंत्री जनक राम साथ रहेंगे. बता दें कि बिहार में एनडीए की सरकार है. बावजूद इसके जनगणना को लेकर दोनों के अलग मत हैं. भाजपा जाति आधारित जनगणना का समर्थन नहीं करती है, जबकि जदयू, राजद, कांग्रेस, हम समेत अधिकतर दल इसके समर्थन में हैं. बता दें कि सीएम नीतीश ने पहले ही कहा है कि जाति गणना की मांग सिर्फ बिहार ही नहीं बल्कि अन्य राज्यों की भी मांग है. यह जरूरी है और इसके होने से पिछड़े तबकों का पता लगेगा और उनके लिए योजनाएं बनाई जा सकेंगी.

बता दें कि बिहार विधानसभा से दो बार जातीय जनगणना को लेकर प्रस्ताव पारित किया जा चुका है. सर्वसम्मति से पारित प्रस्ताव में मांग की गई थी कि साल 2021 में होने वाली जनगणना में जातीय आंकड़े दिए जाएं. सबसे पहले साल 2019 में विधानसभा में एक प्रस्ताव पास किया गया था और दूसरी बार बीते साल फरवरी में विधानसभा की तरफ से इस प्रस्ताव को पारित किया गया था. इसके बाद जब तेजस्वी यादव ने इस मुद्दे को जोर-शोर से उठाया तो सीएम नीतीश ने जातीय जनगणना पर बात करने लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर समय मांगा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.