10वीं-12वीं में चार और पांच अंकों के प्रश्नों की संख्या कम रहेगी, नया पेपर पैटर्न जारी

खबरें बिहार की जानकारी

सीबीएसई ने सैंपल पेपर जारी करने के बाद प्रश्न पत्र पैटर्न भी सोमवार को जारी कर दिया है। दसवीं और 12वीं के 2023 की बोर्ड परीक्षा में चार और पांच अंकों के प्रश्नों की संख्या कम रहेगी। जहां दसवीं के विज्ञान और गणित विषय में पांच अंकों के प्रश्न नहीं पूछे जायेंगे। वहीं सामाजिक विज्ञान में चार अंकों के प्रश्न नहीं रहेंगे। बल्कि दीर्घ उत्तरीय प्रश्न केवल पांच अंकों के ही रहेंगे। वहीं 12वीं की बात करें तो रसायन शास्त्र, बायोलॉजी, भौतिकी में चार अंक के प्रश्न नहीं पूछे जाएंगे। बोर्ड ने इस बार प्रश्नों के पैटर्न में भी बदलाव किया है।

बता दें कि वर्ष 2022 की बोर्ड परीक्षा यानी टर्म-2 आधे सिलेबस पर आधारित थी। ऐसे में प्रश्नों की संख्या भी कम थी। लेकिन इस बार चूंकि एक ही परीक्षा होनी है तो प्रश्नों की संख्या 35 से 40 तक रहेगी। पिछले साल वस्तुनिष्ठ प्रश्न के लिए टर्म-1 लिया गया था। इस बार विषयानिष्ठ और वस्तुनिष्ठ प्रश्न एक ही साथ प्रश्न पत्र में रहेंगे। इसके साथ बोर्ड ने इस बार प्रश्न का उत्तर देने के लिए शब्द सीमा भी बतायी है। बोर्ड के अनुसार दो अंकों के प्रश्नों का उत्तर 30 से 50 शब्दों में देना है। वहीं, तीन अंक का प्रश्न 50 से 80 शब्दों में देना है। दीर्घ उत्तरीय प्रश्न का उत्तर 80 से 120 शब्दों में दिया जाना है।

सभी विषयों में केस स्टडी के प्रश्न


सभी विषयों में केस स्टडी के प्रश्न रहेंगे। दसवीं में सभी विषयों में दो से तीन केस स्टडी प्रश्न रहेंगे। इसमें वस्तुनिष्ठ और लघु उत्तरीय प्रश्न रहेगा। यानी एक और दो-दो अंक के प्रश्न रहेंगे। ज्ञात हो कि केस स्टडी के प्रश्न पहले दीर्घ उत्तरीय होते थे। इस बार से एक और दो अंक में बांट दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.