सीवान की इस दंगल गर्ल का देश में है जलवा, गोल्ड मेडल जीत बिहार को दी नई पहचान

Other Sports

पटना :  हरियाणा के महावीर फोगाट और सीवान के हसनपुरा के राजेंद्र गुप्ता के परिवार की स्थिति कई मामलों में एक जैसी है। दोनों परिवार के मुखिया और बेटियां पहलवान हैं। फोगाट की बेटियां गीता और बबिता विश्वस्तर पर नाम कमा चुकी हैं। वहीं, राजेंद्र गुप्ता की बेटियां दीपा और श्वेता इस राह पर तेजी से आगे बढ़ रही हैं।

राजेंद्र गुप्ता का परिवार सीवान के हसनपुरा में रहता है। राजेंद्र ने 74 वर्ष की उम्र हो जाने के कारण अब भले ही पहलवानी छोड़ दी है लेकिन एक समय इनका नाम बड़े पहलवानों में शुमार था। इनकी पांच बेटियां और एक बेटा है। सबसे छोटी दीपा एवं श्वेता में पहलवानी के लक्षण दिखे सो इन्हें पहलवान बनाने की ठान ली। दोनों बहनों ने आर्थिक तंगी और संसाधनों की परवाह नहीं करते हुए पिता के सपने को साकार करने के लिए हाड़-तोड़ मेहनत की। ट्यूशन पढ़ाकर सीवान आना, यहां कॉलेज की पढ़ाई, इसके बाद मल्लयुद्ध का प्रशिक्षण, फिर 17 किमी दूर हसनपुरा लौटना और ट्यूशन पढ़ाने के बाद घर की जिम्मेदारी संभालना।

यही इनकी दिनचर्या थी। कई वर्षो की मेहनत से उन्हें एक के बाद एक सफलताएं मिलने लगीं। सीवान से जीत का जो सिलसिला शुरू हुआ वह भूटान तक जारी रहा। राज्य स्तरीय और नेशनल प्रतियोगिताओं में इन्हें धूल चटाने वाली कोई पहलवान नहीं मिली। 2105 में हरियाणा में पहली बार नेशनल खेलने का मौका मिला तो दोनों ने गोल्ड मेडल जीतकर सीवान समेत बिहार को गौरवान्वित किया। अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में चयन के बावजूद परिवार की आर्थिक स्थिति उन्हें जाने की इजाजत नहीं दे रही है।

क्षेत्रीय विधायक कविता सिंह के संज्ञान में ये मामला आने पर उन्होंने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर आर्थिक मदद करने की अपील की है। गीता-बबिता फोगाट की तरह देश-विदेश में ढेरों मेडल जीत चुकी हैं। हरियाणा के रोहतक में आठवीं नेशनल ग्रेपलिंग चैंपियनशिप में दोनों को गोल्ड मेडल मिला। भूटान में इंडो-भूटान ग्रेपलिंग चैंपियनशिप 15-16 में फिर दोनों को गोल्ड मेडल मिला। थर्ड बिहार ग्रेपलिंग चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल मिला। अगस्त 2016 को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में नौवीं जीएफआइ नेशनल ग्रेपलिंग चैंपियनशिप में दीपा ने गोल्ड और श्वेता ने सिल्वर जीता।

जुलाई 2017 को दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में 10वीं नेशनल ग्रेपलिंग चैंपियनशिप में दोनों ने गोल्ड जीते, यहां इनका चयन इंटरनेशनल गेम के लिए हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.