सिर्फ बिहार की ही नहीं, बल्कि पटना इस मामले में भी पा गया है राजधानी का दर्जा

खबरें बिहार की

बिहार की राजधानी पटना इन दिनों आपराधिक घटनाओं के कारण लगातार सुर्खियों में है। ताबड़तोड़ हत्या, लूट, रंगदारी जैसी घटनाओं ने राजधानी को दहला कर रख दिया है।

पटना जिले के शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों में कमोबेश यही हालात हैं। पिछले 20-22 दिनों में पटना में हत्या और लूट की कई घटनायें घटी हैं।

अपराधी कब किसे अपनी गोली का निशाना बना लें कोई नहीं कह सकता।

पटना के अलावा इससे सटे दानापुर, फतुहां, पटना सिटी, मसौढ़ी, बिहटा और धनरुआ जैसे इलाकों में भी अपराध की वारदातों में तेजी से इजाफा हुआ है।

कब-कब हुई वारदात
06 सितंबर- बाढ़ में युवक की हत्या

08 सितंबर- बाढ़ कोर्ट में गुड्डू सिंह की हत्या
10 सितंबर- शास्त्रीनगर में आशा देवी की घर में हत्य़ा

15 सितंबर- बिहटा में सिनेमा हॉल मालिक निर्भय सिंह की हत्या
15 सितंबर- मालसलामी में निगम पार्षद उम्मीदवार सुरेन्द्र यादव की हत्या

23 सितंबर- मसौढ़ी में युवक तरबुजन की हत्या
25 सितंबर- पटना से सटे दानापुर में दो फौजियों की हत्या
26 सितंबर- पटनासिटी में बाईपास में अलख निरंजन की हत्य़ा

 

हत्या की इन वारदातों के अलावा राजधानी में बम बिस्फोट और गोलीबारी की और कई घटनाये हो चुकी हैं। राज्य पुलिस मुख्यालय को पहली बार थाना स्तर की मॉनिटरिंग दी गई है।

एडीजी मुख्यालय एके सिंघल का भी दावा है कि घटनाओ में बढ़ोतरी भले ही हो लेकिन आरोपियों की गिरफ्तारी भी हो रही है और आम लोगो की उम्मीद पर खरा उतरने तक के लिये पुलिसिया कार्रवाई लगातार जारी रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.